Current Affairs Hindi – September 19 2018

हैलो दोस्तों, affairscloud.com में आपका स्वागत है। हम यहां आपके लिए 19 सितम्बर,2018  के महत्वपूर्ण करंट अफेयर्स  को विभिन्न अख़बारों जैसे द हिंदू, द इकोनॉमिक टाइम्स, पीआईबी, टाइम्स ऑफ इंडिया, इंडिया टुडे, इंडियन एक्सप्रेस, बिजनेस स्टैंडर्ड,जागरण से चुन करके एक अनूठे रूप में पेश करते हैं । हमारे Current Affairs से आपको बैंकिंग, बीमा, यूपीएससी, एसएससी, सीएलएटी, रेलवे और अन्य सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में अच्छे अंक प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

Click here to Read Current Affairs Today in Hindi – 18 September 2018Current Affairs Septemer 19 2018

राष्ट्रीय समाचार

19 सितंबर को कैबिनेट स्वीकृतियां:Cabinet Approvals on 19th Septemberi.प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति ने तालचर फर्टिलाइजर लिमिटेड (टीएफएल) में गैस आधारित फर्टिलाइजर परियोजना शुरू करने के लिए राष्‍ट्रीय केमिकल एंड फर्टिलाइजर लिमिटेड (आरसीएफ) की ओर से 1033.54 करोड़ रुपये (+/-) के इक्विटी निवेश करने के उर्वरक विभाग के प्रस्‍ताव को मंजूरी दे दी है।
ii.प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं(एडब्‍ल्‍यूडब्‍ल्‍यूएस) और आंगनवाड़ी सहायिकाओं (एडब्‍ल्‍यूएचएस) का मानदेय बढ़ाने तथा आंगनवाड़ी सेवाओं (समेकित बाल विकास सेवा अम्‍ब्रेला स्‍कीम) के तहत आंगनवाड़ी सहायिकाओं को कार्य निष्‍पादन के अनुरुप प्रोत्‍साहन राशि दिए जाने को मंजूरी दे दी है। इसके लिए 1 अक्‍टूबर 2018 से 31 मार्च 2020 की अवधि के लिए केन्‍द्र सरकार के हिस्‍से के रूप में कुल 10649.41करोड़ रूपए का भुगतान किया जाएगा। मानदेय बढ़ाए जाने से करीब 27 लाख आंगनवाड़ी कार्यकर्ता लाभान्वित होंगी। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को 4500/- रुपये, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता (मिनी-एडब्‍ल्‍यूसी) को 3500/- रुपये और आंगनवाड़ी सहायिका को 2250/- रुपये मिलेंगे। मानदेय तथा प्रोत्‍साहन राशि में बढ़ोतरी 1 अक्‍टूबर 2018 से प्रभावी होगी।
iii.प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडलीय आर्थिक समिति ने बुधनी से इंदौर (मांगलियागांव) के बीच 205.5 किलोमीटर लम्बी नई रेल लाईन के निर्माण को मंजूरी दे दी है। इस परियोजना की कुल अनुमानित लागत 3261.82 करोड़ रुपये है। इससे भोपाल के रास्ते वर्तमान मार्ग की तुलना में इंदौर और जबलपुर के बीच की दूरी 68 किलोमीटर कम हो जाएगी। इससे परियोजना क्षेत्र में रोजगार सृजन होगा। निर्माण अवधि के दौरान 49.32 लाख मानवदिवसों का प्रत्यक्ष रोजगार सृजन होगा। इस मार्ग पर दस नए क्रॉसिंग स्टेशन और सात नए हाल्ट स्टेशन बनाने का प्रस्ताव है। नई लाईन से सिहोर, देवास तथा इंदौर जिलों को लाभ होगा और बुधनी से इंदौर के बीच सीधा संपर्क स्थापित होगा।
iv.प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति ने आशा कर्मियों के लाभ पैकेज को पूर्व प्रभाव से मंजूरी दे दी है। ये पैकेज अक्‍टूबर 2018 से प्रभावी होगा। इस पैकेज की लाभार्थी के रूप में उन आशा कर्मियों और आशा सहायिकाओं को नामित किया जाएगा, जो प्रधानमंत्री जीवन ज्‍योति बीमा योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के नाम से भारत सरकार की सामाजिक सुरक्षा योजना के लिए सभी पात्रताएं पूरी करती हैं। राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन के तहत आशा कर्मियों को मिलने वाली नियमित राशि और प्रोत्‍साहन राशि को 1000 रुपये से बढ़ाकर 2000 रुपये प्रति माह किया गया है। इस पैकेज के लिए केन्‍द्र सरकार की ओर से 2018-19 और 2019-20 की अवधि में किया जाने वाला भुगतान 1,224.97 करोड़ रुपये होगा। प्रधानमंत्री जीवन ज्‍योति बीमा योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत 31 मार्च 2019 तक 65 प्रतिशत आशा कर्मियों और आशा सहायिकाओं को पंजीकृत किया जाना है। प्रधानमंत्री जीवन ज्‍योति बीमा और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत 30 अक्‍टूबर, 2019 तक 100 प्रतिशत आशा कर्मियों और आशा सहायिकाओं को पंजीकृत किया जाना है।
v.प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में मंत्रिमंडलीय आर्थिक समिति (सीसीईए) ने 3466 करोड़ रुपए की संशोधित लागत पर बांध पुन:स्‍थापन और सुधार परियोजना (डीआरआईपी) के संशोधित लागत अनुमान को अपनी मंजूरी दे दी है। 198 बांधों की सुरक्षा और संचालन प्रदर्शन में सुधार तथा व्‍यापक प्रबंधन प्रणाली के साथ संस्‍थागत मजबूती के लिए विश्‍व बैंक वित्‍तीय सहायता देगा। 3466 करोड़ रुपए की परियोजना में 2628 करोड़ रुपए विश्‍व बैंक देगा और 747 करोड़ रुपए डीआरआईपी राज्‍य/क्रियान्‍वयन एजेंसियां और शेष 91 करेाड़ रुपए केन्‍द्रीय जल आयोग देगा। सीसीईए ने पूर्व प्रभाव से 01 जुलाई, 2018 से 30 जून, 2020 तक दो वर्ष के समय विस्‍तार की स्‍वीकृति भी दी है। ये परियोजनाएं भारत के 7 राज्‍यों – केरल, मध्‍य प्रदेश, ओडिशा, तमिलनाडु, कर्नाटक, झारखंड (दामोदर घाटी निगम) तथा उत्‍तराखंड (उत्‍तराखंड जल विद्युत निगम लि.) – में हैं।

पीएम मोदी की वाराणसी की 2 दिवसीय यात्रा:PM Modi’s 2-day visit to Varanasii.17 सितंबर, 2018 को, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी के अपने संसदीय क्षेत्र की 2 दिवसीय यात्रा पर गए।
ii.इसका उद्देश्य पूर्वी भारत के विकास के लिए वाराणसी को प्रवेश द्वार बनाना है।
iii.17 सितंबर, 2018 को, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी अपने 68 वें जन्मदिन के अवसर पर वाराणसी पहुंचे।
iv.उन्होंने गैर-लाभकारी संगठन ‘रूम टू रीड’ द्वारा सहायता प्राप्त प्राथमिक विद्यालय के बच्चों के साथ बातचीत की।
v.उन्होंने काशी विद्यापीठ के छात्रों के साथ भी बातचीत की।
vi.बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह द्वारा लिखी गई ‘नरेंद्र मोदी: ए करिश्माटिक एंड विजनरी स्टेट्समैन’ नामक एक कॉफी-टेबल पुस्तक जारी की गई।
vii.केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और मुख्तार अब्बास नकवी ने ‘द मेकिंग ऑफ ए लीजेंड’ किताब जारी की।
viii.18 सितंबर, 2018 को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय का दौरा किया।
ix.उन्होंने बीएचयू को पूर्वी भारत के मेडिकल हब के रूप में विकसित करने की घोषणा की।
x.उन्होंने 557 करोड़ रुपये की विभिन्न विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखी।
xi.परियोजनाएं हैं:
-बाबापुर-शिवपुर रोड का विस्तार,
-रिंग रोड चरण I,
-पुरानी काशी के लिए एकीकृत विद्युत विकास योजना (आईपीडीएस)
-बीएचयू में एक अटल इनक्यूबेशन सेंटर और
-बीएचयू में क्षेत्रीय ओप्थाल्मोलॉजी सेंटर।
उत्तर प्रदेश:
♦ मुख्यमंत्री: योगी आदित्यनाथ।
♦ गवर्नर: राम नायक।
♦ राष्ट्रीय उद्यान: दुधवा राष्ट्रीय उद्यान, पीलीभीत टाइगर रिजर्व।
♦ यूनेस्को विरासत स्थल: आगरा किला, फतेहपुर सीकरी।

केंद्रीय गृह सचिव ने सुरक्षा मंजूरी प्रदान करने के लिये ‘इ-सहज’ पोर्टल का लोकार्पण किया:Union Home Secretary launched ‘e-Sahaj’ portal for grant of Security Clearancei.18 सितंबर, 2018 को,केंद्रीय गृह सचिव श्री राजीव गौबा ने सुरक्षा मंजूरी देने के लिए नई दिल्ली में ‘इ-सहज’ पोर्टल का लोकार्पण किया।
ii.यह पोर्टल आवेदकों को इंटरनेट के जरिये आवेदन करने की सुविधा प्रदान करने के साथ-साथ समय-समय पर प्रगति की जानकारी भी उपलब्ध करायेगा।
iii.इस प्रक्रिया का मानकीकरण होगा और यह तेज, पारदर्शी और निगरानी करने में आसान बनेगी।
iv.विभिन्न अधिकारी इंटरनेट के जरिये इसका प्रयोग कर दस्तावेजों को देख कर समय से निर्णय ले सकते हैं।
केंद्रीय गृह मंत्री: श्री राजनाथ सिंह।
गृह राज्य मंत्री: श्री किरेन रिजजू, श्री हंसराज गंगाराम अहिर।

सरकार और एफएओ ने 33 राज्यों में जीईएफ अनुदान के साथ 5 राज्यों में कृषि परियोजना शुरू की:
i.18 सितंबर, 2018 को, संयुक्त राष्ट्र निकाय एफएओ के साथ सरकार ने जैव विविधता और वन परिदृश्य के संरक्षण पर 33.5 मिलियन अमरीकी डालर की कृषि परियोजना शुरू की।
ii.इस परियोजना को वैश्विक पर्यावरण सुविधा (जीईएफ) द्वारा वित्त पोषित किया जा रहा है।
iii.परियोजना, मध्य प्रदेश, मिजोरम, ओडिशा, राजस्थान और उत्तराखंड में पांच परिदृश्य में लागू की जाएगी।
iv.परियोजना में शामिल होगा:
जैव विविधता संरक्षण, भूमि क्षरण, जलवायु परिवर्तन शमन और टिकाऊ वन प्रबंधन।
पृष्ठभूमि:
अपने सहयोगी क्षेत्रों के साथ कृषि, भारत में आजीविका का सबसे बड़ा स्रोत है, देश के 82 प्रतिशत किसान छोटे और सीमांत हैं।
एफएओ:
♦ पूर्ण फॉर्म: संयुक्त राष्ट्र का खाद्य और कृषि संगठन।
♦ मुख्यालय: रोम, इटली।
♦ सदस्य: 194।

ओडिशा के मुख्यमंत्री ने वायु प्रदूषण को कम करने के लिए उद्योगों के लिए स्टार रेटिंग प्रणाली शुरू की:Odisha CM launches star-rating system for industries to reduce air pollutioni.ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने प्रदूषण को कम करने के लिए राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (एसपीसीबी) नियामक प्रयासों का समर्थन करने के लिए उद्योगों के लिए ‘स्टार रेटिंग प्रोग्राम’ लॉन्च किया है।
ii.प्रमुख औद्योगिक संयंत्रों से वास्तविक समय में प्राप्त निरंतर निगरानी उत्सर्जन डेटा का उपयोग करने के लिए यह भारत में पहला प्रोग्राम है।
iii.यह राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (एसपीसीबी) द्वारा निर्धारित प्रदूषण मानकों के अनुपालन के आधार पर उद्योगों को 1 से 5 तक रेट करेगा।
iv.इसे राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (एसपीसीबी) और शिकागो विश्वविद्यालय के ऊर्जा नीति संस्थान द्वारा विकसित किया गया है।
v.साथ ही, एक वेबसाइट लॉन्च की गई जहां नागरिक इसके बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

बिप्लब कुमार देब ने अगरतला में इसरो के टेक्नोलॉजी इनक्यूबेशन सेंटर का उद्घाटन किया:Biplab Kumar Deb inaugurates ISRO's Technology Incubation Centre in Agartalai.18 सितंबर 2018 को, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने बेंगलुरु से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अगरतला में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के टेक्नोलॉजी इनक्यूबेशन सेंटर का उद्घाटन किया।
ii.इसरो टेक्नोलॉजी इनक्यूबेशन सेंटर को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआईटी), अगरतला के परिसर में विकसित किया गया है।
iii.इसे इंडिया इलेक्ट्रॉनिक्स एंड सेमीकंडक्टर एसोसिएशन (आईईएसए) द्वारा आयोजित ‘स्पेक्ट्रोनिक्स’ के पहले संस्करण में लॉन्च किया गया था।
त्रिपुरा में कुछ राष्ट्रीय उद्यान:
♦ धूमिल तेंदुआ राष्ट्रीय उद्यान
♦ राजबारी राष्ट्रीय उद्यान

महाराष्ट्र सरकार नए साइबर विश्वविद्यालय की स्थापना करेगी:
i.18 सितंबर, 2018 को, महाराष्ट्र सरकार ने नए साइबर विश्वविद्यालय के निर्माण के प्रस्ताव की घोषणा की।
ii.इसका उद्देश्य साइबर खतरों को कम करना है।
iii.परियोजना के चरण 1 के लिए अनुमानित लागत 80 करोड़ रुपये है।
iv.यह निम्नलिखित प्रदान करेगा:
– 3000 प्रशिक्षित पेशेवर,
-ऑनलाइन साइबर हमलों से बचाव,
-साइबर फोरेंसिक,
-डेटा एनालिटिक्स इत्यादि जैसे 15 अन्य आईओटी क्षेत्रों पर प्रशिक्षण।
v.प्रमाणीकरण माइक्रोसॉफ्ट प्रमाणित व्यावसायिक कार्यक्रम की तर्ज पर होगा।
पृष्ठभूमि:
अप्रैल में सिमेंटेक के विश्लेषण के मुताबिक, भारत साइबर हमले के जोखिम के लिए तीसरा सबसे कमजोर देश है।
यह भारतीय कंप्यूटर आपातकालीन प्रतिक्रिया टीम स्थापित करने के राज्य के उद्देश्य का एक हिस्सा है।
महाराष्ट्र:
♦ राजधानी: मुंबई।
♦ मुख्यमंत्री: देवेंद्र फडणवीस।
♦ गवर्नर: सी विद्यासागर राव।

अंतरराष्ट्रीय समाचार

भारत और श्रीलंका ने डंबुला में 5000 मीट्रिक टन तापमान नियंत्रित गोदाम के निर्माण के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए:India & Sri Lanka sign MoU for construction of 5000-metric ton temperature controlled warehouse in Dambullai.17 सितंबर 2018 को, भारत और श्रीलंका ने श्रीलंका के डंबुला में 5000 मीट्रिक टन तापमान नियंत्रित गोदाम के निर्माण के लिए समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए।
ii.श्रीलंका में भारत के उच्चायुक्त श्री तरणजीत सिंह संधू और राष्ट्रीय नीतियों और आर्थिक मामलों के श्रीलंकाई मंत्रालय के सचिव श्री के डी एस रुवांचंद्र ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए।
iii.फल और सब्जियों के लिए 5000 मीट्रिक टन तापमान नियंत्रित गोदाम फसल और फसल के बाद के नुकसान को कम करने के लिए 30 करोड़ श्रीलंकाई रुपये की भारतीय अनुदान सहायता के साथ बनाया जाएगा।
iv.यह परियोजना लोग उन्मुख विकास परियोजनाओं में श्रीलंका सरकार के साथ जुड़ने के लिए भारत सरकार के प्रयासों की निरंतरता में है।
v.श्रीलंका को विकास सहायता के लिए भारत का समग्र योगदान लगभग 3 अरब अमेरिकी डॉलर है। इनमें से 550 मिलियन अमेरिकी डॉलर शुद्ध अनुदान सहायता है।
श्रीलंका के बारे में:
♦ राजधानी – श्री जयवर्धनेपुरा कोटे (प्रशासनिक), कोलंबो (वाणिज्यिक)
♦ मुद्रा – श्रीलंकाई रुपया
♦ आधिकारिक भाषाएं – सिंहला, तमिल
♦ राष्ट्रपति – मैत्रीपाला सिरीसेना

प्रधानमंत्री मोदी, बांग्लादेश की प्रधान मंत्री शेख हसीना ने संयुक्त रूप से एक रेलवे परियोजना का अनावरण किया:
i.19 सितंबर, 2018 को, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधान मंत्री शेख हसीना ने ढाका-टोंगी-जॉयदेबपुर रेलवे परियोजना का उद्घाटन किया।
ii.यह बांग्लादेश में राष्ट्रीय और शहरी परिवहन को मजबूत करेगा।

बैंकिंग और वित्त

भारत और विश्व बैंक ने उत्तराखंड कार्यबल विकास परियोजना (यूकेडब्ल्यूडीपी) के लिए 74 मिलियन अमेरिकी डॉलर के लिए ऋण पर हस्ताक्षर किए:
i.18 सितंबर, 2018 को, भारत और विश्व बैंक ने उत्तराखंड कार्यबल विकास परियोजना (यूकेडब्ल्यूडीपी) के लिए 74 मिलियन अमेरिकी डॉलर के आईबीआरडी क्रेडिट के लिए ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किए।
ii.इसका उद्देश्य औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) में प्राथमिकता पर प्रशिक्षण की गुणवत्ता और प्रासंगिकता में सुधार करना है।
iii.श्री समीर कुमार खरे, अतिरिक्त सचिव, आर्थिक मामलों के विभाग, वित्त मंत्रालय, और श्री जॉर्ज कोरासा, देश निदेशक, विश्व बैंक (भारत) के बीच हस्ताक्षर किए गए थे।
iv.इसके अतिरिक्त, डॉ इकबाल अहमद, अतिरिक्त विकास, कौशल विकास और रोजगार, उत्तराखंड सरकार और विश्व बैंक के कार्यकारी देश निदेशक श्री जॉर्ज कोरासा द्वारा परियोजना समझौते पर भी हस्ताक्षर किए गए।
v.इसमें 5 साल की छूट अवधि है, और 17 साल की परिपक्वता है। परियोजना के लिए समाप्ति तिथि 30 जून, 2023 है।
vi.इसमें 3 घटक हैं:
-आईटीआई प्रशिक्षण की गुणवत्ता और प्रासंगिकता में सुधार,
-राष्ट्रीय कौशल योग्यता फ्रेमवर्क (एनएसक्यूई) के तहत प्रमाणित कुशल श्रमिकों की संख्या में वृद्धि – अनुपालन लघु अवधि प्रशिक्षण और
-नीति और संस्थागत विकास और परियोजना प्रबंधन।
vii.इस परियोजना के तहत, 25 आईटीआई का चयन किया गया है – जिला केंद्रों से 13 और उद्योगों से जुड़े 12।
viii.इसमें राज्य के 4 महिला आईटीआई में से 2 आईटीआई भी होंगे।
उत्तराखंड:
♦ मुख्यमंत्री: त्रिवेन्द्र सिंह रावत
♦ गवर्नर: श्रीमती बेबी रानी मौर्य

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक, बजाज एलियाज ने बीमा उत्पादों की बिक्री के लिए समझौता किया:
i.18 सितंबर 2018 को, इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (आईपीपीबी) ने बजाज एलियाज लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (बीएएलआईसी) के साथ 5 साल के कॉर्पोरेट एजेंसी समझौते पर हस्ताक्षर किए, ताकि उपभोक्ताओं को जीवन बीमा उत्पादों की पेशकश की जा सके।
ii.1 सितम्बर 2018 को लॉन्च होने के बाद से आईपीपीबी के साथ बीएएलआईसी जुड़ने वाली पहली जीवन बीमा कंपनी है। प्रारंभ में, बीएएलआईसी के सिंपल टर्म और प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) उत्पादों को आईपीपीबी के माध्यम से बेचा जाएगा।
iii.पोस्टमेन और ‘ग्रामीण डाक सेवा’ बीमा समाधान बेचने में शामिल होंगे। शुरू में ये उत्पाद आईपीपीबी के नेटवर्क में 3250 एक्सेस पॉइंट्स पर उपलब्ध होंगे। बाद में इसे पूरे भारत में 155,000 डाकघर तक बढ़ा दिया जाएगा।

व्यापार और अर्थव्यवस्था

बीएसई, एनएसई को कमोडिटी डेरिवेटिव लॉन्च करने के लिए सेबी की मंजूरी मिली:
i.बीएसई (बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज) और एनएसई (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज) को 1 अक्टूबर 2018 से कमोडिटी डेरिवेटिव सेगमेंट लॉन्च करने के लिए सेबी (भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड) से मंजूरी मिली है।
ii.प्रारंभ में, बीएसई कमोडिटी डेरिवेटिव सेगमेंट में धातुओं जैसे गैर-कृषि वस्तुओं के साथ प्रवेश करेगा। बाद में इसमें कृषि वस्तुओं को शामिल किया जाएगा।
iii.दिसंबर 2017 में, सेबी ने घोषणा की थी कि, अक्टूबर 2018 से, एकीकृत विनिमय व्यवस्था शुरू की जाएगी जिसके माध्यम से स्टॉक एक्सचेंजों को कमोडिटी डेरिवेटिव्स में व्यापार की पेशकश करने की अनुमति दी जाएगी।
iv.एनएसई क्लियरिंग लिमिटेड को एनएसई पर कमोडिटी डेरिवेटिव्स सेगमेंट में निष्पादित व्यापारों को समाशोधन और निपटारे के लिए सेबी से मंजूरी मिली है।
v.बीएसई 22 सितंबर 2018 को कमोडिटी डेरिवेटिव्स सेगमेंट के लिए लाइव वातावरण में अभ्यासिक व्यापार करेगा।
बीएसई के बारे में (बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज):
♦ अध्यक्ष – एस रवि
♦ कॉर्पोरेट कार्यालय – मुंबई
एनएसई (नेशनल स्टॉक एक्सचेंज) के बारे में:
♦ अध्यक्ष – श्री अशोक चावला
♦ कॉर्पोरेट कार्यालय – मुंबई

नियुक्तियां और इस्तीफे

अनिंदो मजूमदार केन्द्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) के सचिव नियुक्त किए गए:
i.18 सितंबर 2018 को, दिल्ली के वित्तीय आयुक्त अनिंदो मजूमदार को केन्द्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) का सचिव नियुक्त किया गया।
ii.इससे पहले, वह अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के मुख्य सचिव थे। वह अरुणाचल प्रदेश, गोवा और मिजोरम संघ शासित प्रदेशों (एजीएमयूटी कैडर) के 1985-बैच के आईएएस अधिकारी हैं।
iii.उनकी नियुक्ति प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति द्वारा अनुमोदित की गई है।

कमलेश निलकांत व्यास को परमाणु ऊर्जा विभाग का सचिव और परमाणु ऊर्जा कमिशन का अध्यक्ष नियुक्त किया:Kamlesh Nilkanth Vyas appointed Secretary, Department of Atomic Energy and Chairman, Atomic Energy Commisssioni.भाबा परमाणु अनुसंधान केंद्र (बीएआरसी) के निदेशक कमलेश निलकांत व्यास को परमाणु ऊर्जा विभाग का सचिव और परमाणु ऊर्जा कमिशन का अध्यक्ष नियुक्त किया है।
ii.उन्होंने शेखर बसु की जगह ली है। उनकी नियुक्ति प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट की नियुक्ति समिति द्वारा 64 वर्ष की उम्र (3 मई 2021 तक) तक या आगे के आदेश तक, जो भी पहले हो, तक की अवधि के लिए अनुमोदित की गई है।

किताबें और लेखक

डॉ महेश शर्मा ने राष्ट्रीय संग्रहालय की 2 किताबें जारी कीं:
i.17 सितंबर 2018 को, संस्कृति राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) तथा पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री डॉ. महेश शर्मा ने नई दिल्ली में संस्कृति मंत्रालय के अधीन राष्ट्रीय संग्रहालय के दो महत्वपूर्ण प्रकाशनों- सिंधु घाटी सभ्यताः एक परिचय (हिन्दी) तथा राष्ट्रीय संग्रहालय रिसर्च बुलेटिन संख्या 10: विशेषांक का लोकार्पण किया।
ii.राष्ट्रीय संग्रहालय रिसर्च बुलेटिन का प्रकाशन 16 वर्षों के अंतराल के बाद किया गया है।
iii.राष्ट्रीय संग्रहालय रिसर्च बुलेटिन संख्या 10: इस विशेषांक में अनेक शोध पत्र हैं जो राष्ट्रीय संग्रहालय के संग्रहण, प्रदर्शन और शिक्षा के पहलुओं को दिखाते हैं। रिसर्च बुलेटिन में रंगीन चित्रों के माध्यम से व्याख्या की गई है।
iv.सिंधु घाटी सभ्यताः एक परिचय ‘एन इन्ट्रोडक्शन टू इन्डस वैली सिविलाईजेशन’ का हिन्दी संस्करण है। राष्ट्रीय संग्रहालय में ‘एन इन्ट्रोडक्शन टू इन्डस वैली सिविलाईजेशन’ पुस्तक की काफी बिक्री है। इसके सह-लेखक है डॉ. संजीव श्रीवास्तव (उप अधीक्षण पुरातत्त्ववेत्ता, एएसआई) तथा श्री राजेश कुमार (हिन्दी अनुवादक, राष्ट्रीय संग्रहालय)। यह पुस्तक सिंधु घाटी सभ्यता की भव्यता पर प्रकाश डालती है।
राष्ट्रीय संग्रहालय:
♦ मुख्यालय: नई दिल्ली।
♦ महानिदेशक: बी.आर.मणि।

AffairsCloud Recommends IBPSGuide Mock Test