Current Affairs Hindi – December 29 2018

हैलो दोस्तों, affairscloud.com में आपका स्वागत है। हम यहां आपके लिए 29 दिसंबर ,2018  के महत्वपूर्ण करंट अफेयर्स  को विभिन्न अख़बारों जैसे द हिंदू, द इकोनॉमिक टाइम्स, पीआईबी, टाइम्स ऑफ इंडिया, इंडिया टुडे, इंडियन एक्सप्रेस, बिजनेस स्टैंडर्ड,जागरण से चुन करके एक अनूठे रूप में पेश करते हैं । हमारे Current Affairs से आपको बैंकिंग, बीमा, यूपीएससी, एसएससी, सीएलएटी, रेलवे और अन्य सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में अच्छे अंक प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

Click here to Read Current Affairs Today in Hindi – 28 December 2018

राष्ट्रीय समाचार

28 दिसंबर 2018 को कैबिनेट की स्वीकृतिया:Cabinet Approval with Foreign Countries on December 17, 2018प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने निम्नलिखित को मंजूरी दी:
i.प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडल समिति ने वर्ष 2019 सीजन के लिए ‘मिलिंग खोपरा’ की अच्‍छी औसत क्‍वालिटी (एफएक्‍यू) के न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य (एमएसपी) को बढा़कर 9521 रूपये प्रति क्विंटल करने के लिए अपनी मंजूरी दे दी है। वर्ष 2018 में इसका न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य 7511 रूपये प्रति क्विंटल था। 2019 सीजन के लिए ‘बाल खोपरा’ का न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य भी बढा़कर 9920 रूपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है। 2018 में इसका न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य 7750 रूपये प्रति क्विंटल था।
ii.प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडल समिति ने आईपीओ/एफपीओ के माध्यम से शेयर बाजार में निम्नलिखित सात केन्द्रीय सार्वजनिक उद्यमों को सूचीबद्ध करने के लिए अपनी मंजूरी दे दी हैः
1.टेलीकम्युनिकेशन कंसलटेंट्स (इंडिया) लिमिटेड (टीसीआईएल)- आईपीओ
2.रेलटेल कार्पोरेशन इंडिया लिमिटेड – आईपीओ
3.नेशनल सीड कार्पोरेशन इंडिया लिमिटेड (एनएससी) – आईपीओ
4.टिहरी हाइड्रो डवलपमेंट कार्पोरेशन लिमिटेड (टीएसडीसी) – आईपीओ
5.वाटर एंड पावर कंसल्टेंसी सर्विसेस (इंडिया) – लिमिटेड (वापकोस लिमिटेड) – आईपीओ
6.एफसीआई अरावली जिप्सम एंड मिनिरल्स (इंडिया) लिमिटेड(एफएजेएमआईएल) आईपीओ
7.कुद्रेमुख आयरन ओर कम्पनी लिमिटेड (केआईओसीएल) – एफपीओ
iii.प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने कक्षा की एक परिक्रमा से अधिकतम सात दिनों की मिशन अवधि मेंभू-केंद्रित कक्षा में भारतीय मानव अंतरिक्ष विमान क्षमता वालेगगनयान कार्यक्रम को अपनी मंजूरी दे दी है। मानव निर्धारित जीएसएलवी एमके-III का उपयोग कक्षा मॉड्यूल को ले जाने में होगा। इस मॉड्यूल में मिशन की अवधि के लिए तीन क्रू सदस्यों के लिए आवश्यक प्रावधान होंगे। क्रू प्रशिक्षण के लिए आवश्यक मूलभूत संरचना, विमान प्रणालियों की प्राप्ति तथा जमीनी आधारभूत ढांचा तैयार करके गगनयान कार्यक्रम को समर्थन दिया जाएगा। इसरो राष्ट्रीय एजेंसियों, प्रयोगशालाओं, शिक्षा संस्थानों तथा उद्योग क्षेत्र के साथ व्यापक सहयोग करके गगनयान कार्यक्रम के उद्देश्यों को सार्थक बनाएगा। पहले चरण की लागत के लिए खर्च 9023 करोड़ रुपये है। पहले मानव अंतरिक्ष उड़ान प्रदर्शन को मंजूरी की तारीख से 40 महीनों के भीतर पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।
iv.प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बच्‍चों के खिलाफ यौन अपराध करने पर दंड को अधिक कठोर बनाने के लिए बाल यौन अपराध संरक्षण (पोक्सो ) अधिनियममें संशोधन के लिए अपनी मंजूरी दी। पोक्‍सो अधिनियम, 2012 की धारा – 4, धारा – 5, धारा – 6, धारा – 9, धारा – 14, धारा – 15 और धारा – 42 में संशोधन बाल यौन अपराध के पहलुओं से उचित तरीके से निपटने के लिए किया गया है। यह संशोधन देश में बाल यौन अपराध की बढ़ती हुई प्रवृति को रोकने के लिए कठोर उपाय करने की जरूरत के कारण किया जा रहा है। बाल यौन अपराध की प्रवृति को रोकने के उद्देश्‍य से एक निवारक के रूप में कार्य करने के लिए इस अधिनियम की धारा – 4, धारा – 5और धारा – 6का संशोधन करने का प्रस्‍ताव किया गया है, ताकि बच्‍चों को यौन अपराध से सुरक्षा प्रदान करने के लिए आक्रामक यौन अपराध करने के मामले में मृत्‍युदंड सहित कठोर दंड का विकल्‍प प्रदान किया जा सके। बाल पोर्नोग्राफी की बुराई से निपटने के लिए पोक्‍सो अधिनियम, 2012 की धारा – 14 और धारा-15 में भी संशोधन का प्रस्‍ताव किया गया है। बच्‍चों की पोर्नोग्राफिक सामग्री को नष्‍ट न करने/डिलिट न करने/ रिपोर्ट करने पर जुर्माना लगाने का प्रस्‍ताव किया गया है। ऐसे व्‍यक्ति को इस प्रकार की सामग्री का प्रसारण/प्रचार/किसी अन्‍य तरीके से प्रबंधन करने के मामले में जेल या जुर्माना या दोनों सजाएं देने का प्रस्‍ताव किया गया है।
v.प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने तटीय नियमन जोन (सीआरजेड) अधिसूचना, 2018 को मंजूरी दे दी है जिसकी पिछली समीक्षा वर्ष 2011 में की गई थी और फिर उसी वर्ष इसे जारी भी किया गया था। समय-समय पर इसके कुछ अनुच्‍छेदों में संशोधन भी किए जाते रहे हैं। सीआरजेड अधिसूचना, 2011 के प्रावधानों, विशेषकर समुद्री एवं तटीय पारिस्थितिकी के प्रबंधन एवं संरक्षण, तटीय क्षेत्रों के विकास, पारिस्थितिकी पर्यटन, तटीय समुदायों की आजीविका से जुड़े विकल्‍प एवं सतत विकास इत्‍यादि से संबंधित प्रावधानों की व्‍यापक समीक्षा के लिए विभिन्‍न तटीय राज्‍यों/केंद्र शासित प्रदेशों के साथ-साथ अन्‍य हितधारकों की ओर से भी पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय को प्राप्‍त हुए अनेक ज्ञापनों को ध्‍यान में रखते हुए ही यह कदम उठाया गया है।
vi.प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल ने राष्ट्रीय होम्योपैथी आयोग (एनसीएच) विधेयक, 2018 की स्थापना के मसौदे को मंजूरी दी। यह विधेयक वर्तमान की नियामक संस्था, केन्द्रीय होम्योपैथी परिषद (सीसीएच) के स्थान पर पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए एक नई संस्था का गठन करेगा। विधेयक के मसौदे में राष्ट्रीय आयोग के गठन का उल्लेख है। आयोग के अंतर्गत तीन स्वायत्त परिषदें होंगी। होम्योपैथी शिक्षा परिषद द्वारा दी जाने वाली होम्योपैथी शिक्षा के संचालन की जिम्मेदारी स्वायत्त परिषदों पर होंगी। मूल्यांकन और योग्यता निर्धारण परिषद, होम्योपैथी के शैक्षिक संस्थाओं का मूल्यांकन करेगा और मंजूरी प्रदान करेगा। नीति और पंजीयन परिषद होम्योपैथी के चिकित्सकों का पंजीयन करेगा और एक राष्ट्रीय रजिस्टर बनाएगा। इसके अतिरिक्त इलाज से संबंधित नीतिगत मामले राष्ट्रीय होम्योपैथी आयोग के अधिकार क्षेत्र में आएंगे।
vii.प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने आज भारतीय चिकित्‍सा प्रणालियों के लिए राष्‍ट्रीय आयोग (एनसीआईएम) विधेयक, 2018 के मसौदे को मंजूरी दी जिसका उद्देश्‍य मौजूदा नियामक भारतीय चिकित्‍सा केंद्रीय परिषद (सीसीआईएम) के स्‍थान पर एक नया निकाय गठित करना है, ताकि पारदर्शिता सुनिश्चित हो सके। विधेयक के मसौदे में चार स्‍वायत्‍त बोर्डों के साथ एक राष्‍ट्रीय आयोग के गठन का प्रावधान किया गया है। इसके तहत आयुर्वेद से जुड़ी समग्र शिक्षा के संचालन की जिम्‍मेदारी आयुर्वेद बोर्ड और यूनानी, सिद्ध एवं सोवा रिग्‍पा से जुड़ी समग्र शिक्षा के संचालन की जिम्‍मेदारी यूनानी, सिद्ध एवं सोवा रिग्‍पा बोर्ड के पास होगी। इसके अलावा दो सामान्‍य या आम बोर्डों में आकलन एवं रेटिंग बोर्ड और आचार नीति एवं भारतीय चिकित्‍सा प्रणालियों के चिकित्‍सकों का पंजीकरण बोर्ड शामिल हैं।

28 दिसंबर 2018 को दुसरे देशों के साथ कैबिनेट की स्वीकृतिया:Cabinet Approval on December 17, 2018
i.प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल ने संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन फ्रेमवर्क सम्मेलन (यूएनएफसीसीसी) के दायित्व-निर्वहन के तहत भारत के दूसरे द्विवार्षिक अद्यतन रिपोर्ट (बीयूआर) को सम्मेलन में प्रस्तुत करने की मंजूरी दी। यूएनएफसीसीसी में भारत की दूसरी द्विवार्षिक रिपोर्ट, सम्मेलन में प्रस्तुत पहली द्विवार्षिक रिपोर्ट का अद्यतन रूप है। द्विवार्षिक अद्यतन रिपोर्ट के पांच प्रमुख घटक हैं : – राष्ट्रीय परिस्थितियां ; राष्ट्रीय ग्रीन हाउस गैस ; शमन आधारित कार्यकलाप ; वित्त, प्रौद्योगिकी और क्षमता निर्माण संबंधी आवश्यकताएं तथा समर्थन प्राप्ति एवं घरेलू निगरानी, रिपोर्ट व जांच (एमआरवी) आधारित व्यवस्था। राष्ट्रीय स्तर पर किए गए विभिन्न अध्ययनों के पश्चात द्विवार्षिक अद्यतन रिपोर्ट (बीयूआर) तैयार की गई है। कुल उत्सर्जन में ऊर्जा क्षेत्र की हिस्सेदारी 73 प्रतिशत, आईपीपीयू की 8 प्रतिशत, कृषि की 16 प्रतिशत और अपशिष्ट क्षेत्र की 3 प्रतिशत रही। वन भूमि, कृषि भूमि और आबादी के कार्बन सिंक ऐक्शन से उत्सर्जन में 12 प्रतिशत की कमी हुई।
ii.प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल को जैव-प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भारत और क्यूबा तथा भारत और कोरिया के बीच हुए दो द्विपक्षीय समझौता ज्ञापनों (एमओयू) से अवगत कराया गया। इन समझौता ज्ञापनों पर क्रमश: 12 जून, 2018 को हवाना, क्‍यूबा तथा 9 जुलाई, 2018 को नई दिल्‍ली में हस्‍ताक्षर हुए थे। क्‍यूबा और कोरिया के साथ हस्‍ताक्षर किए गए ये समझौता ज्ञापन क्रमश: विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सहयोग और उद्देश्यों के सहमत क्षेत्र में हैं, जहां देश में इन क्षेत्रों के विशेषज्ञ मौजूद हैं।
iii.प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केन्द्रीय मंत्रिमंडल को शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए बाह्य अंतरिक्ष की खोज और उसके इस्तेमाल में सहयोग पर आधारित भारत और साओ टोम व प्रिंसिप के बीच हुए समझौते के बारे में बताया गया। इस समझौते पर 7 सितंबर, 2018 को नई दिल्ली में हस्ताक्षर किये गये थे।

नितिन गडकरी ने यमुना कायाकल्प के लिए 11 परियोजनाओं का शिलान्यास किया:
i.27 दिसंबर 2018 को, श्री नितिन गडकरी, वर्तमान केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा कायाकल्प, सड़क परिवहन और राजमार्ग और नौवहन मंत्री ने नई दिल्ली में नमामि गंगे कार्यक्रम के तहत यमुना कायाकल्प के लिए ग्यारह परियोजनाओं के लिए आधारशिला रखी।
ii.नमामि गंगे कार्यक्रम के तहत, जिसे नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा द्वारा शुरू किया गया है, दिल्ली में यमुना नदी के संरक्षण के लिए कुल ग्यारह परियोजनाएँ शुरू की गई हैं।
iii.ये परियोजनाएं यमुना कार्य योजना-III द्वारा कवर की जा रही हैं, जो भारत सरकार द्वारा दिल्ली में जीआईसीए सहायता के साथ शुरू की गई और तीन जल निकासी क्षेत्रों में स्थित हैं जो कोंडली, रिठाला और ओखला हैं।
iv.परियोजनाओं के लिए निष्पादन एजेंसी दिल्ली जल बोर्ड है।
v.केंद्रीय पर्यावरण और वन मंत्री डॉ हर्षवर्धन और दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल भी इस अवसर पर उपस्थित थे। आठ सीवरेज बुनियादी ढांचा परियोजनाएं, अपशिष्ट जल उपचार संयंत्र और विकेंद्रीकृत एसटीपी वाईएपी-III के अंतर्गत आते हैं।
जल संसाधन, नदी विकास और गंगा कायाकल्प मंत्रालय:
♦ केंद्रीय मंत्री: श्री नितिन गडकरी
♦ राज्य मंत्री: सत्यपाल मलिक और अर्जुन राम मेघवाल

सरकार ने युएपीए के तहत खालिस्तान लिबरेशन फोर्स पर प्रतिबंध लगा दिया:Ban klfi.27 दिसंबर, 2018 को, पंजाब सरकार ने विभिन्न हत्याओं, बम विस्फोटों और अन्य संबद्ध आतंकी गतिविधियों में पूर्ण भागीदारी के लिए खालिस्तान लिबरेशन फोर्स को गैरकानूनी गतिविधियों (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) के तहत प्रतिबंधित कर दिया है।।
ii.पंजाब राज्य में उग्रवाद के पुनरुद्धार के लिए कई आतंकवादी संगठनों द्वारा किए जा रहे प्रयासों के कारण फैसले को प्रभाव दिया गया है।
iii.खालिस्तान लिबरेशन फोर्स (केएलएफ) पर पूर्ण प्रतिबंध प्रभाव में लाया गया है क्योंकि यह जबरन वसूली, अपहरण, बैंक डकैती और महत्वपूर्ण सरकारी अधिकारियों की हत्या के प्रयासों के लिए घटनाओं की संख्या में वृद्धि के लिए अपने सिद्ध योगदान के कारण है। यह 40 वां संगठन है जिसे यूएपीए के तहत प्रतिबंधित किया गया है।
खालिस्तान लिबरेशन फोर्स के बारे में:
स्थापना: 1986
उद्देश्य: हिंसक साधनों के माध्यम से भारत से अलग होकर एक स्वतंत्र खालिस्तान की स्थापना करना।

1 अप्रैल से सभी वाहन हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के साथ आएंगे:
i.28 दिसंबर, 2018 को, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय, नितिन गडकरी ने, 1 अप्रैल,2019 से सभी वाहनों के लिए उच्च सुरक्षा पंजीकरण प्लेट (एचएसआरपी) की फिटिंग को अनिवार्य करने के लिए केंद्रीय मोटर वाहन नियम, 1989 में संशोधन किया।
ii.आधिकारिक अधिसूचना में कहा गया है कि तीसरे पंजीकरण चिह्न सहित उच्च सुरक्षा पंजीकरण प्लेट वाहन निर्माताओं द्वारा 1 अप्रैल, 2019 को या उसके बाद निर्मित वाहनों के साथ आपूर्ति की जाएगी।
iii.वाहन डीलर पुराने वाहनों के लिए एचएसआरपी प्लेट भी प्रदान कर सकते हैं।
iv.एचएसआरपी वाहन पर नज़र रखने में मदद करता है, और खोए हुए या चोरी हुए वाहन का पता लगाना आसान बनाता है।

5 दिवसीय 42वें भारतीय सामाजिक विज्ञान कांग्रेस का उद्घाटन मणिपुर की राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला ने ओडिशा के केआईआईटी कैंपस में किया:5-day 42nd Indian Social Science Congressi.27 दिसंबर, 2018 को, मणिपुर की राज्यपाल डॉ नजमा हेपतुल्ला ने ओडिशा के भुवनेश्वर में कलिंग इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी (केआईआईटी) परिसर में 5 दिवसीय 42 वें भारतीय सामाजिक विज्ञान कांग्रेस का उद्घाटन किया।
ii.इस कार्यक्रम का उद्देश्य जमीनी स्तर पर पहुंचने के लिए विज्ञान और सामाजिक विज्ञान में अनुसंधान को बढ़ावा देना हैं।
iii.यह कार्यक्रम केआईआईटी और भारतीय सामाजिक विज्ञान अकादमी (आईएसएसए) द्वारा आयोजित किया गया।
iv.सम्मेलन का विषय ‘डिजिटल युग में मानव भविष्य’ है।
v.पिछला सम्मेलन, 41 वा भारतीय सामाजिक विज्ञान कांग्रेस तमिलनाडु में पेरियार विश्वविद्यालय में आयोजित किया गया, जिसका केंद्र बिंदु ‘भारतीय विश्वविद्यालय शिक्षा प्रणाली: एक महत्वपूर्ण मूल्यांकन’ था। इसका समापन 31 दिसंबर, 2018 को होगा।
पृष्ठभूमि:
भारतीय सामाजिक विज्ञान कांग्रेस भारतीय सामाजिक विज्ञान अकादमी द्वारा आयोजित सामाजिक वैज्ञानिकों की वार्षिक बैठक है।
मणिपुर:
मुख्यमंत्री: श्री एन बीरेन सिंह।
राज्यपाल: डॉ नजमा हेपतुल्ला।
ओडिशा:
मुख्यमंत्री: श्री नवीन पटनायक।
राज्यपाल: गणेशी लाल।

अंतरराष्ट्रीय समाचार

नेपाली नागरिक भारत में वस्तुओं और सेवाओं के लिए भुगतान करते समय प्रति माह 1 लाख से अधिक खर्च करने में असमर्थ होगा:
i.25 दिसंबर 2018 को, देश के चालू खाता घाटे को दूर करने के लिए, नेपाल ने सामानों और सेवाओं के लिए भुगतान करते समय अपने नागरिक को भारत में खर्च करने वाली भारतीय मुद्रा की राशि पर मासिक सीमा लगा दी।
ii.नए प्रतिबंधों के अनुमोदन के साथ एक नेपाली नागरिक भारत में वस्तुओं और सेवाओं के लिए भुगतान करते समय प्रति माह 1 लाख से अधिक खर्च करने में असमर्थ होगा।
iii.25 दिसंबर 2018 से लागू होने वाली नीति भारतीय बाजारों में खरीद के लिए नेपाली बैंकों के प्रीपेड, क्रेडिट और डेबिट कार्ड के उपयोग के लिए भी लागू होगी।
iv.भारत और नेपाल के बीच चालू खाते के घाटे की बढ़ती समस्या और भुगतान संकट के संतुलन से निपटने के लिए यह निर्णय लिया गया।
v.भारत द्वारा जारी किए गए विमुद्रीकरण के प्रभाव से नेपाल अभी तक प्रभावित है। नेपाल में अभी तक भारतीय मुद्रा का भारी मात्रा में आदान-प्रदान नहीं हुआ है, जिसका दिल्ली द्वारा अब तक आदान-प्रदान नहीं किया गया है, इसलिए नवीनतम कदमों का उद्देश्य घरेलू बाजार को आश्वस्त करना था कि भविष्य में भारत द्वारा विमुद्रीकरण दोहराए जाने की स्थिति में नेपाल सुरक्षित रहेगा।
vi.14 दिसंबर 2018 को, नेपाल सरकार ने नेपाल में 2000 रुपये, 500 रुपये और 200 रुपये मूल्यवर्ग के भारतीय मुद्रा नोटों के इस्तेमाल पर औपचारिक रूप से प्रतिबंध लगा दिया।
नेपाल:
♦ मुद्रा: नेपाली रुपया
♦ राजधानी: काठमांडू
♦ प्रधानमंत्री: खड्ग प्रसाद ओली
♦ राष्ट्रपति : बिध्या देवी भंडारी

बैंकिंग और वित्त

आरबीआई ने सिटी को-ऑपरेटिव बैंक के जमाकर्ताओं के लिए निकासी सीमा में छूट दी:RBI relaxes withdrawal limit for depositorsi.भारतीय रिज़र्व बैंक ने मुंबई स्थित सिटी को-ऑपरेटिव बैंक के मानदंडों को आसान कर दिया है, जिससे उसके जमाकर्ताओं को हर बचत बैंक या चालू खाते या किसी अन्य जमा में कुल शेष राशि के 5,000 रुपये से अधिक की राशि निकालने की अनुमति मिलती है।
ii.इस साल की शुरुआत में, आरबीआई ने सहकारी बैंक पर कई प्रतिबंध लगाए थे, जिसमें जमाकर्ताओं द्वारा बैंक की वित्तीय स्थिति को कमजोर करने के लिए जमाकर्ताओं द्वारा 1,000 रुपये तक की निकासी को सीमित करना शामिल था।
भारतीय रिजर्व बैंक:
♦ राज्यपाल: शक्तिकांत दास
♦ मुख्यालय: मुंबई

केंद्र सरकार ने 2159 करोड़ का निवेश यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया में किया:
i.26 दिसंबर 2018 को, केंद्र सरकार ने निकट भविष्य में पुनर्पूंजीकरण बॉन्ड के माध्यम से सात सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में 28,615 करोड़ रुपये के पूंजीगत निवेश के रूप में राज्य के स्वामित्व वाली यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया में 2,159 करोड़ रुपये का निवेश करने का फैसला किया।
ii.सूत्रों के अनुसार, पुनर्पूंजीकरण राशि जो सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को प्राप्त हो सकती है वह इस प्रकार है:

बैंक का नामपुनर्पूंजीकरण राशि (रु)
बैंक ऑफ इंडिया10,086 करोड़
सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया1,678 करोड़
यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया2,159 करोड़
ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स5,500 करोड़
बैंक ऑफ महाराष्ट्र4,498 करोड़
यूको बैंक3,056 करोड़
सिंडीकेट बैंक1,638 करोड़

iii.2018-19 में, केंद्र ने पीएसबी में 65,000 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की, जिसमें से 23,000 करोड़ रुपये पहले ही दिए जा चुके थे, जबकि 42,000 करोड़ रुपये अभी भी शेष हैं।
iv.इस महीने की शुरुआत में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि सरकार पहले 20 दिसंबर को घोषित पीएसबी में अतिरिक्त 41,000 करोड़ रुपये लगाएगी और सरकार ने अतिरिक्त 41,000 करोड़ रुपये के लिए संसद की मंजूरी मांगी।
v.पुनर्पूंजीकरण पीएसबीएस की ऋण देने की क्षमता को बढ़ाएगा और उन्हें भारतीय रिज़र्व बैंक के भारतीय सुधारक कार्रवाई ढांचे से बाहर आने में मदद करेगा।
वित्त मंत्रालय:
♦ मंत्री: अरुण जेटली
♦ राज्य मंत्री: शिव प्रताप शुक्ला, पोन राधाकृष्णन
♦ वित्त सचिव: अजय नारायण झा

आईसीआईसीआई 2015-2017 में धोखाधड़ी के लिए कर्मचारियों को दंडित करने वाले बैंकों की सूची में सबसे ऊपर है:ICICI Bank launches digital form for opening current accountsi.27 दिसंबर, 2018 को, भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा 2015 और 2017 के बीच प्रस्तुत आंकड़ों के अनुसार, निजी ऋणदाता आईसीआईसीआई बैंक ने भारत में कार्यरत 60 अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों में से पिछले तीन वर्षों में बैंक की संपत्ति को धोखा देने के लिए सबसे अधिक कर्मचारियों को दंडित किया।
ii.इसके बाद भारतीय स्टेट बैंक और पंजाब नेशनल बैंक का स्थान है।
iii.सभी में, बैंकों ने 13,949 अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की, जिनमें से 16 प्रतिशत, या 2,236, आईसीआईसीआई के थे।
iv.हालांकि, पिछले 3 वर्षों में धोखाधड़ी के मामलों में गिरावट आई है।

भारतीय रिज़र्व बैंक ने सूक्ष्म वित्त संस्थानों को वित्तपोषित करने के लिए भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक को मौजूदा 1000 करोड़ रुपये देने के प्रस्ताव को मंजूरी दी:
i.27 दिसंबर, 2018 को, भारतीय रिज़र्व बैंक ने सूक्ष्म वित्त संस्थानों को वित्तपोषित करने के लिए भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक को मौजूदा 1000 करोड़ रुपये देने का प्रस्ताव मंजूरी दी।
ii.इसके साथ, एमएफआई को नरम ऋण इस शर्त पर प्रदान किया जाएगा कि अंत में उधारकर्ताओं को 15-17% की दर पर ऋण प्राप्त करना चाहिए, जो बाजार दर से 20-22% कम है।
iii.इसके लिए सिडबी ने उत्तर प्रदेश स्थित कैशपॉर्स माइक्रो क्रेडिट और कर्नाटक स्थित श्रीक्षेत्र धर्मस्थल ग्रामीण विकास परियोजना (एसकेडीआरडीपी) जैसी संस्थाओं के साथ समझौता किया और अगला टाईअप ओडिशा के साथ होगा।
iv.इसके अतिरिक्त, यह सिडबी को ‘लापता मध्य खंड’ को निधि देने में भी सक्षम होगा, जिसकी सीमा 50000 रुपये से 3 लाख रुपये तक होती है, जिसे पहली बार 5 लाख रुपये तक बढ़ाया जा सकता है।
सिडबी:
मुख्यालय: लखनऊ, यूपी।
अध्यक्ष और एमडी: श्री मोहम्मद मुस्तफा।

एचडीएफसी समूह टाटा समूह को पीछे छोड़ बाजार पूंजीकरण के मामले में देश का सबसे बड़ा समूह बना:
i.28 दिसंबर, 2018 को, ब्लूमबर्ग के आंकड़ों के अनुसार, दीपक पारेख के नेतृत्व वाले एचडीएफसी समूह टाटा समूह को पीछे छोड़ बाजार पूंजीकरण के मामले में देश का सबसे बड़ा समूह बना।
ii.समूह की पांच सूचीबद्ध कंपनियों का कुल बाजार पूंजीकरण (एमएसीपी) वर्तमान में 10.40 लाख करोड़ रुपये है, जो टाटा समूह की तुलना में 1,185 करोड़ रुपये अधिक है।
iii.एचडीएफसी बैंक, समूह का एक हिस्सा, टीसीएस (7.16 ट्रिलियन) और आरआईएल(7.09 ट्रिलियन) के बाद 5 लाख करोड़ रूपये के बाजार पूंजीकरण सीमा को पार करने वाली भारतीय कॉर्पोरेट इतिहास में तीसरी कंपनी है।
iv.मुकेश अंबानी की अगुवाई वाला रिलायंस समूह 7.06 लाख करोड़ रुपये में मार्केट कैप रैंकिंग में तीसरे स्थान पर है।

व्यापार और अर्थव्यवस्था

सार्वजनिक उद्यम सर्वेक्षण 2017-18 के अनुसार इंडियन ऑयल, ओएनजीसी, एनटीपीसी वित्त वर्ष 18 में सबसे अधिक लाभदायक सार्वजनिक उपक्रम हैं:Indian Oili.27 दिसंबर, 2018 को, संसद में प्रस्तुत ‘द पब्लिक एंटरप्राइजेज सर्वे 2017-18’ शीर्षक से एक सर्वेक्षण के अनुसार, इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन, ओएनजीसी और एनटीपीसी 2017-18 में शीर्ष तीन सबसे अधिक लाभदायक सार्वजनिक उपक्रमों के रूप में उभरे हैं।
ii.भारतीय तेल सर्वेक्षण केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों के प्रदर्शन का मानचित्रण किया गया,यह सार्वजनिक उद्योग विभाग, भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम विभाग द्वारा तैयार किया गया।
सर्वेक्षण की मुख्य विशेषताएं:
i.शीर्ष दस घाटे बनाने वाले पीएसयू ने सभी 71 सीपीएसई द्वारा किए गए कुल घाटे का 84.71 प्रतिशत होने का दावा किया।
ii.सीपीएसई बनाने वाले शीर्ष दस मुनाफे में वर्ष के दौरान राज्य के स्वामित्व वाली फर्मों के सभी 184 लाभ कमाने वाले कुल लाभ का 61.83 प्रतिशत था।
iii.इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन, ओएनजीसी और एनटीपीसी 2017-18 में शीर्ष तीन सबसे अधिक मुनाफे वाले सार्वजनिक उपक्रमों के रूप में उभरे और इसी अवधि के दौरान सीपीएसई द्वारा अर्जित कुल लाभ में क्रमशः 13.37 प्रतिशत, 12.49 प्रतिशत और 6.48 प्रतिशत का योगदान दिया।
iv..सूची में चौथे और पांचवें स्थान पर कोल इंडिया और पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन रहे।
v.2017-18 में सीपीएसई द्वारा किए गए कुल नुकसान में बीएसएनएल, एयर इंडिया और एमटीएनएल सहित तीन सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले सार्वजनिक उपक्रमों का योगदान रहा।
vi.पावर फाइनेंस कॉर्पोरेशन ने सीपीएसई बनाने वाले शीर्ष दस लाभ की सूची में प्रवेश किया।
vii.घाटे में चल रही पीएसयू सूची में प्रवेश करने वाली अन्य कंपनियों में शामिल: भारत कोकिंग कोल लिमिटेड, इंडिया इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस कंपनी और ईस्टर्न कोलफील्ड्स थी।
viii.2017-18 में 339 सेंट्रल पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइजेज थे, जिनमें से 257 ऑपरेशन में थे। शेष रहे 82 निर्माणाधीन थे।
भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्रालय:
केंद्रीय मंत्री: श्री अनंत गीते
राज्य मंत्री: श्री बाबुल सुप्रियो

भारत ने 20 साल में पहली बार एफडीआई अंतर्वाह में चीन को पछाड़ा:
i.वैश्विक विलय और अधिग्रहण और पूंजी बाजार डेटा प्रदाता, डीईओंलॉजिक के आंकड़ों के अनुसार, भारत ने दो दशकों में पहली बार अपने पड़ोसी देश चीन की तुलना में अधिक विदेशी निवेश प्राप्त किया।
ii.2018 में, भारत जिसका वित्तीय बाजार स्थिर बुनियादी उभरते क्षेत्रों में नए अवसरों द्वारा समर्थित है, ने चीन के 32 बिलियन डॉलर के मुकाबले 38 बिलियन डॉलर से अधिक का इनबाउंड सौदे किए।
iii.चीन, जो ऐतिहासिक रूप से उभरते बाजार के दांव का पसंदीदा रहा है, संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ अपने व्यापार गतिरोध के कारण आजकल मंदी का सामना कर रहा है।
iv.अमीर विदेशी निवेशक देश में धन की तैनाती के लिए आकर्षित होते हैं क्योंकि नए दिवालियापन ढांचे के कारण परिसंपत्ति का विभाजन हो रहा है।
चीन:
♦ राजधानी: बीजिंग
♦ मुद्रा: रेनमिनबी
♦ राष्ट्रपति: शी जिनपिंग

पुरस्कार और सम्मान

बाल्कन एथलीट ऑफ द ईयर को जीतने के लिए मॉड्रिक ने जोकोविच को हराया:Balkan athlete of the year awardi.27 दिसंबर 2018 को, क्रोएशिया के कप्तान और स्पैनिश क्लब रियल मैड्रिड के मिडफील्डर लुका मोड्रिक को बाल्कन एथलीट ऑफ द ईयर दिया गया, बाल्कन एथलीट ऑफ द ईयर बल्गेरियाई समाचार एजेंसी द्वारा आयोजित किया गया। वह 1994 में बुल्गारिया के पूर्व यूरोपीय फुटबॉलर हिस्टो स्टोइकोव के बाद पुरस्कार जीतने वाले दूसरे फुटबॉल खिलाड़ी बने।
ii.सर्बियाई खिलाड़ी नोवाक जोकोविक को दूसरा स्थान मिला जबकि महिलाओं की नंबर एक टेनिस रोमानिया की सिमोना हालेप को बाल्कन के सर्वेक्षण में तीसरा स्थान मिला।
iii.लुका मोड्रिक ने फीफा विश्व कप के फाइनल में क्रोएशिया का नेतृत्व किया और रूस में आयोजित फीफा 2018 के लिए टूर्नामेंट के विजेता खिलाड़ी बन गए।
iv.मॉड्रिक ने दिसंबर 2018 में पहली बार प्रतिष्ठित पुरुषों के बैलन डी’ओर पुरस्कार को जीता था।
क्रोएशिया:
♦ राजधानी: ज़गरेब
♦ मुद्रा: कुना

बराक ओबामा को लगातार 11वें साल सबसे प्रशंसित व्यक्ति के रूप में सम्मानित किया गया:
i.संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएसए) के पूर्व राष्ट्रपति, बराक ओबामा को गैलप पोल के अनुसार 11 वें वर्ष के लिए अमेरिकियों द्वारा सबसे प्रशंसित व्यक्ति के रूप में नामित किया गया है। यूएसए के वर्तमान राष्ट्रपति, डोनाल्ड ट्रम्प लगातार चौथे वर्ष दुसरे स्थान पर रहे।
ii.यूएसए की पूर्व प्रथम महिला मिशेल ओबामा को भी अमेरिकी द्वारा सबसे अधिक प्रशंसा प्राप्त महिलाओं के रूप में चुना गया।
iii.हिलेरी क्लिंटन 17 वर्षों में सूची में शीर्ष स्थान से चूक गईं।

नियुक्तिया और इस्तीफे 

पूर्व राष्ट्रपति  राजोइलिना ने मार्क रावलोमनाना को हराकर मेडागास्कर चुनाव जीता:Madagascar Electioni.27 दिसंबर, 2018 को, मेडागास्कर के एक पूर्व नेता एंड्री राजोइलिना ने देश का राष्ट्रपति पद हासिल किया और इस प्रक्रिया में मार्क रावलोमनाना को हराया, जो देश के दूसरे पूर्व राष्ट्रपति थे।
ii.राजोइलिना ने लगभग 56% वोट हासिल किए और चुनाव के पहले दौर में उन्हें 39% वोट मिले थे, जबकि श्री रावलोमन को 35% वोट मिले।
iii.देश के पूर्व राष्ट्रपति, हेनरी राजाओनारिमम्पैनिना को चुनाव के पहले दौर में ही बाहर कर दिया गया था क्योंकि उन्हें केवल 9% वोट मिले।
iv.राजोइलिना और रावलोमनाना दोनों धनी पुरुष हैं और 2013 की राष्ट्रपति पद की दौड़ से वर्जित थे और उन्होंने देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने का वादा किया था।
मेडागास्कर:
♦ राजधानी: एंटानानारिवो
♦ प्रधानमंत्री: क्रिस्चियन न्तस्य

न्यायमूर्ति प्रवीण कुमार की आंध्र उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्ति की गई:
i.28 दिसंबर, 2018 को, माननीय राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने जस्टिस चगारी प्रवीण कुमार को आंध्र उच्च न्यायालय के नए कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया।
ii.राज्य की राजधानी अमरावती में आंध्र प्रदेश के लिए एक नए उच्च न्यायालय के निर्माण की आवश्यकता पर, श्री प्रवीण कुमार को नए पद के लिए नियुक्त किया गया।
iii.भारतीय संविधान के अनुच्छेद 223 के प्रावधानों के तहत, राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने आंध्र उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के कार्यालय के निर्दिष्ट कर्तव्यों का निर्वहन करने के लिए न्यायमूर्ति चगारी प्रवीण कुमार को नियुक्त किया है।
आंध्र प्रदेश:
♦ राजधानी: अमरावती
♦ मुख्यमंत्री: श्री चंद्रबाबू नायडू
♦ गवर्नर: ईएसएल नरसिम्हन राव

अंबिका प्रसाद पांडा को एसईसीएल का सीएमडी नियुक्त किया गया:CMD of SECLi.27 दिसंबर, 2018 को पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय द्वारा जारी आदेश के संबंध में, अंबिका प्रसाद पांडा को साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक के कर्तव्यों का निर्वहन करने का अवसर दिया गया है।
ii.श्री पांडा अब तक एसईसीएल में निदेशक (वित्त) का पद संभाल रहे हैं।
ii.एसईसीएल के सीएमडी की नियुक्ति पांच साल की अवधि के लिए की गई है।
साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड और पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय:
♦ मुख्यालय: बिलासपुर, छत्तीसगढ़
♦ केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री: श्री धर्मेंद्र प्रधान

विज्ञान  और प्रौद्योगिकी

चीन ने 3 बिलियन अमरीकी डालर की लागत से रूस के एस-400 मिसाइल एयर डिफेंस सिस्टम का सफलतापूर्वक परीक्षण किया:
i.27 दिसंबर, 2018 को चीन ने रूस के एस-400 मिसाइल वायु रक्षा प्रणाली का सफल परीक्षण किया।
ii.इसने जुलाई 2015 में हस्ताक्षरित एक 3 बिलियन अमरीकी डालर के अनुबंध के तहत रूस से हथियार का अंतिम शिपमेंट प्राप्त किया।
iii.2014 में रूस के साथ एस-400 मिसाइल की खरीद के लिए सरकारी-से-सरकारी सौदे पर मुहर लगाने वाला चीन पहला विदेशी खरीदार था।
iv.इसमें 3 किलोमीटर प्रति सेकंड की सुपरसोनिक गति है।

रूस ने नई हाइपरसोनिक परमाणु मिसाइल अवांगार्ड का सफल परीक्षण किया:Avangardi.26 दिसंबर, 2018 को, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मॉस्को में 30,000 किलोमीटर प्रति घंटे से अधिक की गति के साथ ‘अवांगार्ड’ नामक एक नई हाइपरसोनिक मिसाइल का सफल परीक्षण किया।
ii.यह प्रणाली 2019 से उपयोग के लिए तैयार होगी।
iii.यह ध्वनि की गति से 20 गुना अधिक गति से उड़ने की क्षमता रखती है और यह रक्षा प्रणालियों को भंग कर सकती है।

खेल

विराट कोहली ने द्रविड़ के 16 साल पुराने टेस्ट रिकॉर्ड को तोड़ा:
i.27 दिसंबर 2018 को, भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान, विराट कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टेस्ट के दूसरे दिन 82 रनों की पारी खेलने के बाद भारत के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ के 16 साल के विदेशों में सबसे अधिक रनों के रिकॉर्ड को  तोडा।
ii.राहुल द्रविड़ ने 2002 में ओवरसीज टेस्ट में 1137 रन बनाए थे, जिसे विराट कोहली ने 2018 में 1138 रन बनाकर तोड़ा।

अमेरिकी के ओ’ब्रडी अंटार्कटिका में एकल ट्रेक को पूरा करने वाले पहले इंसान बने:American adventurer O'Brady First Person to complete solo trek across Antarcticai.26 दिसंबर 2018 को, अमेरिकी एडवेंचरर कोलिन ओ’ब्रडी, अंटार्कटिका में एक एकल यात्रा पूरी करने वाले पहले व्यक्ति बन गए।
ii.33 साल के कॉलिन ओ ब्रैडी,ने उत्तर से दक्षिण तक जमे हुए महाद्वीप को पार करने में लगभग 1,000 मील (1,600 किलोमीटर) की दूरी को पूरा करने में 54 दिन का समय लिया, उनकी यात्रा को जीपीएस द्वारा ट्रैक किया जाता था।