Current Affairs PDF

NSO: Q1 FY22 में भारत की GDP 20.1% बढ़ी; अप्रैल-जुलाई 2021 में राजकोषीय घाटा BE के 21.3% पर पहुंचा

AffairsCloud YouTube Channel - Click Here

AffairsCloud APP Click Here

Economyराष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (NSO), सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय (MoSPI) के आंकड़ों के अनुसार भारत की सकल घरेलू उत्पाद (GDP) वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही (Q1 FY22) (अर्थात अप्रैल से जून 2021) में Q1 FY21 के 24.4 (-24.4) प्रतिशत के संकुचन की तुलना में 20.1 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

प्रमुख बिंदु:

i.Q1 FY22 में GDP अनुमान:

  • स्थिर कीमतों पर GDP (2021-22): वित्त वर्ष 2021 की पहली तिमाही में यह 26.95 लाख करोड़ रुपये के मुकाबले वित्त वर्ष 2022 की पहली तिमाही में यह 32.38 लाख करोड़ रुपये (20.1 प्रतिशत की वृद्धि) रहने का अनुमान है।
  • मौजूदा कीमतों पर GDP: Q1 FY22 में यह 51.23 लाख करोड़ रुपये होने का अनुमान है, जबकि Q1 FY21 में यह 38.89 लाख करोड़ रुपये (Q1 FY21 में 22.3 प्रतिशत के संकुचन की तुलना में 31.7 प्रतिशत की वृद्धि) थे।

ii.Q1 FY22 में मूल मूल्य अनुमान पर GVA:

  • स्थिर कीमतों पर सकल मूल्य वर्धन (GVA): Q1 FY21 के 25.66 लाख करोड़ रुपये के मुकाबले यह Q1 FY22 में 30.48 लाख करोड़ रुपये (18.8 प्रतिशत की वृद्धि) होने का अनुमान है। 
  • मौजूदा कीमतों पर GVA: FY21 Q1 के 36.53 लाख करोड़ रुपये के मुकाबले यह 46.20 लाख करोड़ रुपये (26.5 प्रतिशत की वृद्धि) होने का अनुमान है।

iii.पूर्व महामारी स्तर की तुलना: Q1 FY22 में GDP वृद्धि Q1 FY20 (यानी COVID-19 स्तर से पहले) की तुलना में 9.2 प्रतिशत कम थी और Q1 FY22 में समग्र GVA Q1 FY20 की तुलना में 7.8 प्रतिशत कम था।

  • इससे पता चलता है कि अर्थव्यवस्था अभी भी FY20 के स्तर पर नहीं पहुंची है।

iv.कृषि, वानिकी और मत्स्य पालन क्षेत्र Q1 FY22 में Q1 FY21 के 3.5 प्रतिशत की तुलना में 4.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

अप्रैल-जुलाई 2021 में राजकोषीय घाटा बजट अनुमान के 21.3% पर पहुंच गया

जुलाई 2021 के अंत में लेखा महानियंत्रक (CGA) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, अप्रैल-जुलाई 2021 (यानी वित्त वर्ष 2022 के पहले 4 महीने) के दौरान भारत का राजकोषीय घाटा 3.21 लाख करोड़ रुपये या बजट अनुमान (BE) का 21.3 प्रतिशत था। 

  • केंद्र द्वारा वित्त वर्ष 22 के लिए राजकोषीय घाटा अनुमानित 15.07 लाख करोड़ रुपये था।

संकेतक अप्रैल-जुलाई 2021
कुल प्राप्तियां 6.83 लाख करोड़ रुपये/BE का 34.6%
व्यय 10.04 लाख करोड़ रुपये/BE का 28.8%
करों के हिस्से के हस्तांतरण के रूप में राज्य सरकार को हस्तांतरित राशि 1.65 लाख करोड़ रुपये

हाल के संबंधित समाचार:

वित्त वर्ष 2021 के लिए केंद्र सरकार के CGA के राजस्व-व्यय के आंकड़ों ने वित्त वर्ष 2021 के लिए भारत के राजकोषीय घाटे को सकल घरेलू उत्पाद (GDP) का 9.3 प्रतिशत / 18.21 लाख करोड़ रुपये बताया, जो वित्त मंत्रालय के संशोधित अनुमान (RE) के 9.5 प्रतिशत से लगभग 27,194 करोड़ रुपये कम है। 

सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय (MoSPI) के बारे में:

MoSPI – Ministry of Statistics and Programme Implementation 

राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) – राव इंद्रजीत सिंह (निर्वाचन क्षेत्र – गुरुग्राम, हरियाणा)

लेखा महानियंत्रक (CGA) के बारे में:

CGA- Controller General of Accounts 

i.CGA, वित्त मंत्रालय के व्यय विभाग में भारत सरकार का प्रधान लेखा सलाहकार होता है।

ii.वार्षिक विनियोग खाते (सिविल) और केंद्रीय वित्त खाते CGA द्वारा संविधान के अनुच्छेद 150 के अंतर्गत संसद में प्रस्तुत किए जाते हैं।

iii.वर्तमान CGA – दीपक दास (25वां CGA, 1 अगस्त 2021 से)