Current Affairs PDF

Current Affairs Today in Hindi – July 10 2017

AffairsCloud YouTube Channel - Click Here

AffairsCloud APP Click Here

हैलो दोस्तों, affairscloud.com में आपका स्वागत है।हम यहां आपके लिए 10 जुलाई,2017 के महत्वपूर्ण करंट अफेयर्स  को विभिन्न अख़बारों जैसे द हिंदू, द इकोनॉमिक टाइम्स, पीआईबी, टाइम्स ऑफ इंडिया, इंडिया टुडे, इंडियन एक्सप्रेस, बिजनेस स्टैंडर्ड,जागरण से चुन करके एक अनूठे रूप में पेश करते है। हमारे Current Affairs से आपको बैंकिंग, बीमा, यूपीएससी, एसएससी, सीएलएटी, रेलवे और अन्य सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में अच्छे अंक प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

Click here to Read Current Affairs Today in Hindi – July 9 2017

Current Affairs July 10 2017
भारतीय समाचार

शहरी विकास और शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालयों का विलय किया गया
सरकार ने शहरी विकास और आवास मंत्रालय और शहरी गरीबी उन्मूलन के मंत्रालयों को 7 जुलाई को विलय कर दिया है.
i.अब यह दोनों मंत्रालय अलग अलग न होकर एक ही होंगे .
ii.विलय के बाद के मंत्रालय का नाम “आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय” होगा .
iii.यह तीसरी बार है कि मंत्रालय विलय किए गए हैं।


इस से पहले के विलय और विभाजन
i.पहला विभाजन : मंत्रालय का गठन 13 मई, 1952 को किया गया था जब इसे कार्य, आवास और आपूर्ति मंत्रालय के नाम से जाना जाता था। बाद में एक अलग आपूर्ति मंत्रालय के बनने पर इसका नाम बदल कर कार्य एवं आवास मंत्रालय कर दिया गया। सितंबर 1985 में शहरी मुद्दों के महत्व को मान्यता के रूप में मंत्रालय का नाम बदल कर शहरी विकास मंत्रालय कर दिया गया।
ii. 8 मार्च 1995 को शहरी रोजगार और गरीबी उनमूलन विभाग के सृजन से साथ, मंत्रालय को शहरी मामलों और रोजगार मंत्रालय के नाम से जाना जाने लगा। मंत्रालय के दो विभाग थे: शहरी विकास विभाग व शहरी रोजगार और गरीबी उनमूलन विभाग।
iii.पहला विलय : 9 अप्रैल 1999 को दोनों विभागों का पुनः विलय कर दिया गया और परिणामस्वरूप “शहरी विकास मंत्रालय” वापस बहाल कर दिया गया है।
iv. दूसरा विभाजन : 16.10.1999 से मंत्रालय को दो मंत्रालयों में विभाजित कर दिया गया, नामत: (1) “शहरी विकास मंत्रालय” और (2) “शहरी रोजगार और गरीबी उनमूलन मंत्रालय”।
iv,दूसरा विलय : इन दोनों मंत्रालयों का 27.5.2000 को पुनः एक मंत्रालय में विलय कर दिया गया और दो विभागों वाले “शहरी विकास और गरीबी उपशमन मंत्रालय” का नाम दिया गया। वे हैं: (1)शहरी विकास विभाग और (2)शहरी रोजगार और गरीबी उनमूलन विभाग।
v. तीसरा विभाजन : 27-5-2004 से, मंत्रालय को एक बार फिर दो मंत्रालयों में विभाजित कर दिया गया है, नामतः (1)शहरी विकास मंत्रालय; और (2) शहरी रोजगार और गरीबी उपशमन मंत्रालय (अब आवास और शहरी गरीबी उनमूलन मंत्रालय)।
vi.तीसरा विलय : 7 जुलाई 2017

रिलायंस एरोस्ट्रक्चर के विशेष आर्थिक क्षेत्र (एसईजेड) को मंजूरी
Centre clears decks for Dhirubhai Ambani Aerospace Park at Mihanरिलायंस एरोस्ट्रक्चर के विशेष आर्थिक क्षेत्र यानी एसईजेड को मंजूरी मिल गई है।
*एसईजेड(SEZ)- special economic zone
प्रमुख बिंदु :
i.वाणिज्य मंत्रालय के तहत आने वाले एसईजेड बोर्ड ऑफ अप्रूवल ने नागपुर में एसईजेड को मंजूरी दी है।
ii.कंपनी की नागपुर के मिहान एसईजेड में 6500 करोड़ रुपये के निवेश से एयरोस्पेस पार्क बनाने की योजना है।
iii. 289 एकड़ जमीन पर ये प्रोजेक्ट दो चरणों में पूरा होगा। इस प्रोजेक्ट का नाम धीरूभाई अंबानी एयरोस्पेस पार्क होगा।
iv.अगले 30 सालों में इस प्रोजेक्ट के जरिए 2 लाख करोड़ रुपये का कारोबार होने की उम्मीद है।
स्पेशल इकॉनामिक जोन (एसईजेड )क्या है ?
निर्यात को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा स्थापित किए जाने वाले आर्थिक क्षेत्रों को स्पेशल इकॉनामिक जोन कहा जाता है। एसईजेड से होने वाले निर्यात पर कस्टम ड्यूटी, एक्साइज ड्यूटी, आयकर , मिनिमन अल्टरनेट टैक्स, डिविडेंड डिस्ट्रीब्यूशन टैक्स कुछ भी नहीं लगता।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल सरकार के साथ समझौता किया
स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने कोलकाता में रक्ताधान (ट्रांसफ्यूजन) चिकित्सा के क्षेत्र में उत्कृष्ट केंद्र स्थापित करने में पश्चिम बंगाल सरकार को सहयोग देने के लिए समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किये।
i.भारत सरकार ने इस महत्वपूर्ण पहल के लिए उपकरण, कर्मचारियों और संचालन लागत के लिए लगभग 200 करोड़ रुपये के परिव्यय को मंजूरी दी है।
ii.इस पहल के लिए राज्य सरकार निःशुल्क भूमि उपलब्ध करवाएगी।
iii. इस कदम का उद्देश्य राज्य और आसपास के क्षेत्रों में रक्ताधान सेवाओं को सुदृढ़ करना है।
iv.स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री ने पहले चरण के लिए मंजूरी दे दी है, जिसमें चेन्नई और कोलकाता में इस प्रकार के सुविधा केंद्र स्थापित किए जायेंगे।

खाद्य क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए नवंबर 2017 में वैश्विक खाद्य मेला आयोजित करेगी सरकार
Govt to organise global food fair in November 2017 to boost food sectorसरकार नवंबर 2017 में एक वैश्विक खाद्य मेले का आयोजन कर रही है। खाद्य मेला का आयोजन भारतीय किसानों और निर्माताओं के लिए एक मंच प्रदान करने के लिए किया जाएगा ताकि वे अपने उत्पादों का प्रदर्शन कर सकें और विदेशी कंपनियों के साथ भागीदारी का पता लगा सकें।
i.खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय द्वारा 3-5 नवंबर को तीन दिवसीय विश्व खाद्य भारत 2017 (World Food India 2017)का आयोजन किया जा रहा है।
ii.चैंबर ऑफ इंडियन इंडस्ट्री (सीआईआई) एक इवेंट पार्टनर होगा।
iii.यह पहली बार है कि ऐसा मंच उपलब्ध कराया जा रहा है, जहां खुदरा विक्रेताओं के लिए किसान अपने उत्पादों और नवाचारों का प्रदर्शन करेंगे।
iv.इस मंच के माध्यम से किसान विदेशी कंपनियों के साथ व्यापार के अवसर तलाश सकते हैं।
v.विश्व खाद्य भारत 2017 का उद्देश्य भारत को एक वैश्विक खाद्य फैक्टरी और वैश्विक खाद्य खुदरा बाजार बनाने का है।

अंतरराष्ट्रीय समाचार

गोनोरिया के लिए बेहतर नई दवाओं की आवश्यकता: संयुक्त राष्ट्र
संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी के मुताबिक गोनोरिया के खिलाफ इलाज के लिए नई दवाओं की ज़रूरत है।
* गोनोरिया क्या है ? : प्रमेह या गोनोरिया एक यौन संचारित बीमारी (एसटीडी) है। गोनोरिया नीसेरिया गानोरिआ नामक जीवाणु के कारण होता है जो महिलाओं तथा पुरुषों के प्रजनन मार्ग के गर्म तथा गीले क्षेत्र में आसानी और बड़ी तेजी से बढ़ती है।
प्रमुख बिंदु:
i.विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) के बयान के मुताबिक करीब 8 करोड़ लोग हर साल इस बीमारी से संक्रमित होते हैं।
ii.यह गर्भवती महिला से सीधा बच्चे को हो जाता है और जन्मजात बच्चे में अंधापन पैदा कर सकता है.
iii.डब्ल्यूएचओ के रोगाणुरोधी प्रतिरोध के निदेशक ने गोनोरिया को नियंत्रित करने के लिए कहा, डॉक्टरों को बेहतर रोकथाम, उपचार, पहले निदान के लिए नए उपकरण और प्रणालियों की जरूरत है।
iv.डब्ल्यूएचओ के अनुसार, गोनोरिया पहली बार 1970 के दशक में एशिया में उभरी, 1980 की शुरुआत के दौरान शेष दुनिया में फैल गया।
v.इस बीमारी से बचाव का सबसे सुरक्षित तरीका अजनबियों या रोग से पीड़ित व्यक्ति से शारीरिक संबंध नहीं बनाना है। कोई भी व्यक्ति एक वफादार साथी का साथ पाकर और स्वयं अपने साथी के प्रति वफादार रह कर इस बीमारी से बच सकता है।

ब्रिटेन ने भारत के विभाजन की 70 वीं वर्षगांठ को चिह्नित करने के लिए ‘ग्रांड ट्रंक रोड’ परियोजना की शुरूआत की
UK launches ‘Grand Trunk Road’ project to mark 70th anniversary of India’s partitionअगस्त 1947 में भारत के विभाजन की 70 वीं वर्षगांठ को चिह्नित करने के लिए ब्रिटिश सरकार ने ‘ग्रांड ट्रंक रोड’ की एक नई परियोजना शुरू की है।
प्रमुख बिंदु:
i.ग्रांड ट्रंक रोड ने भारत और पाकिस्तान और उनके विविध संस्कृतियों को हमेशा से साथ जोड़े रखने का काम किया है।
ii.’ग्रांड ट्रंक रोड’ परियोजना के तहत ब्रिटेन में रह रहे हिन्दू,मुस्लिम और भारतीय और पाकिस्तान मूल के लोग ,विभिन्न क्रायक्रमों में हिस्सा लेते हैं .
iii.इसमें विभाजन में जिन लोगों ने जान गवाई और विभाजन के इतिहास के बारे में लोगों को जागरूक किया जाता है.
iv.जब अंग्रेजों की गुलामी से आज़ाद होने के बाद इंडियन हॉकी टीम ने 1948 के लंदन ओलंपिक खेलों में पहला स्वर्ण पदक जीता था,वो पल भी बहुत खास था .उस दिन को भी याद किया जाता है .
यूके के बारे में
♦ राजधानी: लंदन
♦ मुद्रा: पौंड स्टर्लिंग

बैंकिंग और वित्त

आरबीआई ने दिवालियेपन पर जारी आदेश में किया संशोधन
भारतीय रिजर्व बैंक ने बैंकों के लिए पूर्व में जारी आदेश में संशोधन किया है, जिसके तहत उन 12 कंपनियों के खिलाफ दिवालियेपन की कार्यवाही शुरू करने को कहा गया था, जिन पर मार्च, 2016 तक 5,000 करोड़ रुपए का कर्ज बकाया है।
प्रमुख बिंदु :
i.इससे पहले गुजरात उच्च न्यायालय ने आरबीआई से अपने पिछले महीने के आदेश पर लगी शर्त हटाने को कहा था। इस शर्त के तहत नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल में 12 गैर निष्पादित परिसंपत्तियों (एनपीए), यानी डूबे हुए कर्ज को प्राथमिकता दी जाएगी।
ii.आरबीआई की ओर से जारी विज्ञप्ति के मुताबिक 13 जून, 2017 को जारी प्रेस विज्ञप्ति के पैराग्राफ नंबर 5 की तीसरी पंक्ति को हटाया जाता है, जिसमें आरबीआई ने दिवालियापन और दिवालियेपन संहिता (आईबीसी) के तहत संदर्भ के लिए खातों की पहचान की है। इस तरह के मामलों को नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) द्वारा प्राथमिकता दी जाएगी।
iii.आरबीआई द्वारा चिह्न्ति की गई 12 बड़ी एनपीए में से एक एस्सार स्टील ने गुजरात उच्च न्यायालय का रुख कर आरबीआई की इस कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग की थी। कंपनी ने इस कदम को मनमाना बताया था।
iv.अदालत ने एस्सार की निष्क्रिय इकाई के खिलाफ 12 जुलाई तक दिवालियापन की कार्यवाही करते हुए आरबीआई से अपने आदेश में संशोधन करने को कहा था। इस आदेश में एनसीएलटी को इन चिह्न्ति मामलों को प्राथमिकता देने की बात थी।

वित्त वर्ष 2018 के लिए सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की पहली किश्त 10 जुलाई को लॉन्च हुई
सरकार ने 10 जुलाई, 2017 को वित्त वर्ष 2017-2018 के लिए सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की पहली किश्त 10 जुलाई को लॉन्च की है .बॉन्ड की बिक्री बैंक्स, स्टॉक होल्डिंग कार्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड के जरिए की जाएगी। साथ ही इसे डाकघर और स्टॉक एक्सचेंजों के जरिए भी खरीदा जा सकता है।
Finance Ministry announces sixth tranche of gold bondsक्या है सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड?
सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड फिजिकल गोल्ड में निवेश करने का विकल्प है। इस स्कीम को पिछले वर्ष नवंबर में लॉन्च किया गया था। सरकार अबतक एसजीबी के सात चरणों की घोषणा कर चुकी है। रिजर्व बैंक सरकार की ओर से बॉन्ड जारी करता है।
कैसे तय होगी बॉन्ड की कीमत?
भारत बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन लिमिटेड की ओर से दी गई कीमत पर इस बॉन्ड की कीमत तय होगी। वहीं इस बॉन्ड की कीमत रुपए में तय की जाएगी।
कितनी सीमा तक खरीद पाएंगे बॉन्ड ?
नियम के मुताबिक गोल्ड बॉन्ड में 8 साल के लिए निवेश करना जरूरी है, जिसे कम से कम 5 साल के लिए बनाए रहना होगा। कम से कम 1 ग्राम सोने और अधिकतम 500 ग्राम सोने के लिए बॉन्ड खरीदे जा सकते हैं। बॉन्ड खरीद के लिए पेमेंट अगर कैश से करनी है तो अधिकतम 20,000 रुपए कैश दे सकते हैं। वहीं इससे ऊपर की पेमेंट चेक या नेट बैंकिंग के जरिए करनी होगी।
किन डॉक्यूमेंट्स की होगी जरूरत?
इसके लिए पहचान दस्तावेज जैसे कि आधार कार्ड या पैन या टैन (टैक्स डिडक्शन ऐंड कलेक्शन अकाउंट) या पासपोर्ट या वोटर आईडी कार्ड अपने पास रखें। साथ ही जारी करने वाले बैंक या डाक घर या फिर एजेंट के माध्यम से भी खरीदारी की जा सकती है।
कौन खरीद सकता है ?
भारत में रह रहे नागरिक ही एसजीबी में निवेश कर सकते हैं। एचयूएफ, ट्रस्ट, यूनिवर्सिटीज, धर्मार्थ संस्थाएं आदि निवेश कर सकते हैं। एसजीबी में ज्वाइंट होल्डिंग की अनुमति दी जाती है। साथ ही, अल्पवयस्क (नाबालिग) की ओर से अभिभावक आवेदन कर सकता है।

अरुण जेटली ने लांच किया ‘आयकर सेतु’ एप
केन्‍द्रीय वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने एक नवीन करदाता सेवा मॉड्यूल ‘आयकर सेतु’ लांच किया है। इसे करदाताओं के साथ सीधे संपर्क करने तथा उपयोगी कर सेवाओं के बारे में जानकारी मुहैया कराने के लिए शुरू किया गया है।
i.यह आयकर विभाग की एक पहल है जिससे टैक्स भरना बहुत ही आसान हो जाएगा।
ii.इस ई-पहल से करदाताओं और कर निर्धारण अधिकारियों के बीच आमने-सामने बैठकर होने वाले संपर्क की जरूरत बहुत कम हो जाएगी और ऐसे में कर संबंधी उत्पीड़न की संभावना भी कम हो जाएगी।
iii.यह मॉड्यूल आयकर विभाग के अंतर्गत निहित विभिन्‍न टैक्‍स टूल, लाइव चैट फैसिलिटी, गतिशील अपडेट और विभिन्‍न प्रक्रियाओं से संबंधित महत्‍वपूर्ण लिंक को एकल मॉड्यूल में संकलित करता है।
iv.करदाता महत्‍वपूर्ण टैक्‍स अपडेट, फॉर्म और अधिसूचनाओं के बारे में नियमित रूप से अपडेट को अपने उस मोबाइल नम्‍बर पर प्राप्‍त कर सकते हैं, जिसे आयकर विभाग में पंजीकृत कराया गया है।

व्यापार

अमेरिका से पहली बार कच्चा तेल आयात करेगा भारत
IOCभारत पहली बार अमेरिका से कच्चे तेल का आयात करने जा रहा है और प्राप्‍त जानकारी के मुताबिक अमेरिका से आयातित तेल की पहली खेप इस साल अक्‍टूबर में भारत आने की उम्मीद है।
प्रमुख बिंदु :
i.बता दें भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा तेल आयातक देश है।
ii.सार्वजनिक क्षेत्र की इंडियन आयल कारपोरेशन (आईओसी) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा के कुछ ही सप्ताह के भीतर यह समझौता किया है। मोदी की यात्रा के दौरान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि उनका देश भारत को और ऊर्जा उत्पादों के निर्यात पर गौर कर रहा है।
iii.आईओसी के निदेशक (वित्‍त) ए के शर्मा ने बताया कि हमने उत्‍तरी अमेरिका से 20 लाख बैरल कच्चा तेल खरीदा है। इसमें अमेरिकी मार्स क्रूड तथा 400,000 बैरल वेस्टर्न कनाडियन सेलेक्ट शामिल है।
iv.यूएस मार्स भारी, उच्च सल्फर ग्रेड का क्रूड है जिसका प्रसंस्करण आईओसी की ओड़िशा स्थित पारादीप रिफाइनरी में होगा।

जीएसटी : पट्टे पर विमान और उसके हिस्से के आयात पर जीएसटी का भुगतान नहीं करना पड़ेगा
सरकार ने माल एवं सेवा कर (जीएसटी )से पट्टे पर विमान, विमान इंजन और उसके हिस्से के आयात को छूट दी है।
पृष्ठभूमि
i.विमानन कंपनी ने विमानों के पट्टे पर दोहरे कराधान (विमान के आयात पर कर और पट्टा किराया पर जीएसटी) का मसला उठाया था .
ii.एयरएशिया इंडिया ने कहा, इसके पट्टे की लागत हर विमान पर करीब 10 करोड़ रुपये बढ़ेगी।
iii.हमने सरकार के सामने इस बाबत अपना पक्ष रखा है। हम ग्राहकों पर इसका भार नहीं डालेंगे और उम्मीद कर रहे हैं कि इस मामले का समाधान निकलेगा।

पुरस्कार और प्राप्तियां

मदर टेरेसा की नीली बॉर्डर वाली साड़ी को ‘मिशनरीज ऑफ चैरिटी’ की ‘इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी’ के तौर पर मान्यता दी गयी
Mother Teresa's Blue-Bordered Sari declared an Intellectual Propertyसंत की उपाधि से सम्मानित मदर टेरेसा की मशहूर नीले बार्डर वाली साड़ी को मिशनरीज ऑफ चैरिटी की ‘इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी’ के तौर पर मान्यता दी गयी है।
i.यानी अब नीले बॉर्डर वाली सफेद साड़ी के गलत इस्तेमाल पर कानूनी कार्रवाई भी संभव है।
ii.गौरतलब है कि यह पहला मौका है जब किसी परिधान को ऐसी मान्यता दी गई हो।

पीवी सिंधु को ‘मारुति सुजुकी स्पोर्ट्स ऑफ द इयर’ पुरस्कार और के.एल. राहुल को ‘गेम चेंजर ऑफ द इयर’पुरस्कार मिला
रियो ओलिंपिक की रजत पदक विजेता पी वी सिंधू को चैरिटी गाला पुरस्कार समारोह में ‘मारुति सुजुकी स्पोर्ट्स ऑफ द इयर’ के पुरस्कार से नवाजा गया।
i.ये पुरस्कार स्पोटर्स इलस्ट्रेटेड इंडिया मैगजीन ने शुरू किए हैं।
ii.इसी समारोह में सिंधू के कोच पुलेला गोपीचंद को वर्ष का सर्वश्रेष्ठ कोच चुना गया।
iii.फ्लाइंग सिख के नाम से मशहूर मिल्खा सिंह को लिविंग लीजैंड आफ द ईयर पुरस्कार दिया गया।
iv.ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी टेस्ट सीरीज में शानदार प्रदर्शन करने वाले युवा भारतीय क्रिकेटर केएल राहुल को गेमचजर ऑफ द ईयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
v.भारत के एकमात्र ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता (बीजिंग ओलंपिक 2008) अभिनव बिंद्रा को लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार से नवाजा गया।
vi.पैरा एथलीट देवेंद्र झझारिया, एम थंगावेलू, वरूण भाटी और दीपा मलिक को भी पुरस्कार दिए गए।
vii.जूनियर विश्व कप विजेता भारतीय जूनियर पुरूष हाकी टीम को वर्ष की सर्वश्रेष्ठ टीम चुना गया।

डेनफॉस इंडिया को गोल्डन पीकॉक पर्यावरण प्रबंधन पुरस्कार से सम्मानित किया गया
पर्यावरण और ऊर्जा दक्षता समाधान कंपनी डेनफॉस इंडिया को पर्यावरण प्रबंधन के लिए ‘गोल्डन पीकॉक अवार्ड’ से सम्मानित किया गया है।
i.यह पुरस्कार सर्वोच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति कुरियन जोसेफ की उपस्थिति में 19वीं विश्व कांग्रेस पर्यावरण प्रबंधन के दौरान हैदराबाद में दिया गया.
ii.रविचंद्रन पुरुषोत्तमन डेनफॉस इंडिया के वर्तमान अध्यक्ष है.

विज्ञान प्रौद्योगिकी

आरएसएस ने शुरू की नई वेबसाइट ‘सेवागाथा’, शिवराज सिंह चौहान ने किया लोकार्पण
Shivraj Singh Chouhanबदलते दौर के साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में भी बदलाव आने लगा है. वर्तमान दौर सोशल मीडिया का है और संघ के सेवा विभाग ने भी अपने को इसमें जोड़ने के लिए ‘सेवागाथा’ नाम से वेबसाइट बनाई है.
i.इस वेबसाइट का संघ के सरकार्यवाह भैय्याजी जोशी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने समन्वय भवन में आयोजित समारोह में लोकार्पण किया. ii.वेबसाइट में संघ के बीते पांच दशकों में विभिन्न क्षेत्रों में किए गए कामों और गतिविधियों की जानकारी दी जाएगी. वेबसाइट में संघ से जुड़े स्वयंसेवकों द्वारा किए जा रहे कामों से समाज में आ रहे बदवाल से जुड़ी कहानियां भी प्रदर्शित की जाएंगी.

खेल समाचार

एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप – अवलोकन
2017 एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप के 22 वें संस्करण थे। यह 6 से 9 जुलाई 2017 तक भारत के भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में आयोजित किया गया था।
i.भुवनेश्वर एशियाई चैंपियनशिप की मेजबानी करने वाला तीसरा भारतीय शहर था।
ii.45 देशों के लगभग 800 एथलीटों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया।
iii. इस बार भारत ने एशियाई एथलेटिक्स में पदक जीतकर इतिहास बनाया।भारत ने एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप के आखिरी दिन पांच स्वर्ण पदक हासिल किए और शीर्ष पर रहते हुए टूर्नामेंट का समापन किया.
iv. भारत ने कुल 12 स्वर्ण पदक हासिल किए. भारत ने टूर्नामेंट में कुल 12 स्वर्ण पदक, पांच रजत पदक और 12 कांस्य पदक हासिल किए.
v. चैम्पियनशिप का शुभंकर “ओली” था।

Rank Nation Gold Silver Bronze Total
1 India 12 5 12 29
2 China 8 7 5 20
3 Kazakhstan 4 2 2 8
4 Iran 4 0 1 5
5 Vietnam 2 2 0 4

वाल्टेरी बोटास ने ऑस्ट्रियाई ग्रांड प्रिक्स ख़िताब जीता
Valtteri Bottas wins Austrian Grand Prixमर्सिडीज़ के खिलाडी वाल्टेरी बोटास ने ऑस्ट्रियाई ग्रांड प्रिक्स ख़िताब जीता यह उनके करियर की दूसरी जीत है.
i. इस मुकाबले में सेबस्टियन वेट्टेल और डैनियल रीकार्डोडो क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे. तीन बार फॉर्मूला वन चैंपियन, मर्सिडीज के लुईस हैमिल्टन रेस में चौथे स्थान पर रहे.
ii. विशेष रूप से, वेट्टेल ड्राईवर स्टैंडिंग में 171 अंकों से आगे रहे, जोकि हैमिल्टन 20 अंक आगे है.
iii.यह अज़रबैजान की राजधानी और सबसे बड़े शहर बाकू में हुई थी.

निधन-सूचना

मशहूर बंगाली अभिनेत्री सुमिता सन्‍याल का निधन
बंगाली सिने जगत की वेटरन अभिनेत्री सुमिता सान्‍याल का 71 वर्ष की उम्र में 9 जुलाई को निधन हो गया।
प्रमुख बिंदु :
i.उन्‍हें मुख्‍यरूप से 1971 में आई फिल्‍म ‘आनंद’ में रेनू का किरदार निभाने के लिए जाना जाता है।
ii.सुमिता ने फिल्‍म में अमिताभ बच्‍चन की प्रेमिका का किरदार निभाया था।
iii.सुमिता का असली नाम मंजुला सान्‍याल था और उनका जन्‍म 9 अक्‍टूबर, 1945 को दार्जिलिंग में हुआ था।
iv.सुमिता ने बंगाली में 40 से भी ज्‍यादा फिल्‍मों में अभियान किया जिनमें सगीना महतो में उनके हीरो दिलीप कुमार थे।

अमेरिका में भारत के राजदूत रहे नरेश चंद्रा का निधन
Former Indian Ambassador to the US Naresh Chandra passes awayअमेरिका में भारत के राजदूत रहे नरेश चंद्रा का गोवा के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया.
i.चंद्रा के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था. वह 82 साल के थे.
ii.चंद्रा के निधन पर पीएम मोदी ने भी शोक व्यक्त किया है.
iii.चंद्रा ने साल 1990-92 के बीच मंत्रिमंडल सचिव के तौर पर अपनी सेवाएं दी थी.
iv.इसके बाद साल 1996 से 2001 तक वह अमेरिका में भारत के राजदूत रहे.
v.उन्हें साल 2007 में भारत के दूसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था.

जल विशेषज्ञ मोहनकृष्णन का निधन
वयोवृद्ध पानी विशेषज्ञ और कावेरी टेक्निकल सेल के पूर्व अध्यक्ष ए. मोहनकृष्णन का 9 जुलाई, 2017 को निधन हो गया।
प्रमुख बिंदु :
i. 1990 से दिसंबर 2012 तक मोहनकृष्णन ने कावेरी टेक्निकल सेल (सीटीसी) के अध्यक्ष के रूप में सेवा की।
ii. वह जल संसाधन विभाग के लिए एक सलाहकार भी थे।
iii. उन्होंने विभिन्न मुख्यमंत्रियों के साथ काम किया और तमिलनाडु में विभिन्न जल परियोजनाओं पर सलाह दी।
iv. उन्होंने लोक सेवा आयोग की परीक्षा में शीर्ष स्थान हासिल किया था .

किताबें और लेखक

क्रिप्टो मुद्रा के गुरु अमित भारद्वाज ने ई-बुक की शुरूआत की
Crypto currency guru Amit Bhardwaj launches e-bookक्रिप्टो करेंसी गुरु अमित भारद्वाज ने ई-बुक ‘क्रिप्टो करेंसी फॉर बिगिनर्स’ लॉन्च की, जो क्रिप्टो करेंसी पर संदर्भ और स्पष्‍टता प्रदान करती है।
i.’क्रिप्टो करेंसी ट्रेडिंग फॉर बिगिनर्स’ और ‘क्रिप्टो करेंसी माइनिंग फॉर बिगिनर्स’ के बाद यह श्रृंखला में उनकी तीसरी किताब है।
ii.अमित भारद्वाज अमेज माइनिंग एंड रिसर्च लिमिटेड के संस्थापक हैं।
बिटकॉइन या क्रिप्टो करेंसी क्या है ?
i.Bitcoin एक तरह की एक डिजिटल मुद्रा (digital currency) है|
ii.इसका मालिक, भौतिक (physical) रूप से चीजों की खरीदारी नहीं कर सकता बल्कि बिटकॉइन का उपयोग ऑनलाइन ही क्या जा सकता है| iii.इसका अधिग्रह होने पर अधिकारी सिर्फ ऑनलाइन शॉपिंग या हस्तांतरण के लिए इसका उपयोग कर सकते हैं|
iv.यह एक प्रकार की स्वतन्त्र मुद्रा है जिस पर किसी भी संस्था या देश का अधिकार नहीं है|
v. इसके इस्तेमाल और भुगतान के लिये क्रिप्टोग्राफी (Cryptography) का इस्तेमाल किया जाता है इसलिये इसे क्रिप्टो करेंसी (Crypto currency) भी कहा जाता है।
vi.दुनिया की पहली क्रिप्टो करेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) है। इसको जमा करना माइनिंग (Mining) कहलाता है।

Current Affairs June 2017 PDF कैप्सूल in Hindi डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

समाचार याद रखने के लिए ट्रिक्स कमैंट्स में देखे .अगर आपकी कोई ट्रिक हो तो कमेंट में शेयर करें.

आपका दिन शुभ हो ,आपकी मेहनत रंग लाये और सफलता आपके कदम चूमे .