Current Affairs PDF

Current Affairs Hindi – April 24 2019

AffairsCloud YouTube Channel - Click Here

AffairsCloud APP Click Here

हैलो दोस्तों, affairscloud.com में आपका स्वागत है। हम यहां आपके लिए 24 अप्रैल ,2019 के महत्वपूर्ण करंट अफेयर्स को विभिन्न अख़बारों जैसे द हिंदू, द इकोनॉमिक टाइम्स, पीआईबी, टाइम्स ऑफ इंडिया, इंडिया टुडे, इंडियन एक्सप्रेस, बिजनेस स्टैंडर्ड,जागरण से चुन करके एक अनूठे रूप में पेश करते हैं। हमारे Current Affairs से आपको बैंकिंग, बीमा, यूपीएससी, एसएससी, सीएलएटी, रेलवे और अन्य सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में अच्छे अंक प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

Click here to Read Current Affairs Today in Hindi – 23 April 2019

INTERNATIONAL AFFAIRS

इंडोनेशिया ने रामायण का डाक टिकट जारी किया:Ramayana stampi.23 अप्रैल 2019 को, इंडोनेशिया ने भारत और इंडोनेशिया के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना की 70 वीं वर्षगांठ पर भारत के राजदूत प्रदीप कुमार रावत और इंडोनेशिया के उप विदेश मंत्री अब्दुर्रहमान मोहम्मद फकीर की उपस्थिति में रामायण के विषय पर एक विशेष डाक टिकट जारी किया।
ii.इंडोनेशियन के मूर्तिकार पद्मश्री बापक नोमन नुअर्ट ने डाक टिकट डिजाइन किया और इसमें हिंदू महाकाव्य रामायण का एक दृश्य दिखाया गया है जिसमें जटायु ने सीता को बचाने के लिए बहादुरी से लड़ाई लड़ी थी।
iii.डाक टिकट का एक विशेष रूप से हस्ताक्षरित संस्करण को डाक टिकट संग्रहालय, जकार्ता में प्रदर्शित किया जाएगा।
इंडोनेशिया:
♦ आधिकारिक भाषा: इंडोनेशियाई, मलय ट्रेंडिंग
♦ राजधानी: जकार्ता
♦ मुद्रा: इंडोनेशियाई रुपिया

29वे अबू धाबी अंतर्राष्ट्रीय पुस्तक मेले में भारत “गेस्ट ऑफ ऑनर” होगा:29th Abu Dhabi International Book Fairi.24 अप्रैल 2019 को, अबू धाबी अंतर्राष्ट्रीय पुस्तक मेला (एडीआईबीएफ) का 29 वां संस्करण शुरू हुआ और यह 30 अप्रैल को अबू धाबी राष्ट्रीय प्रदर्शनी केंद्र में संपन्न होगा। भारत को “गेस्ट ऑफ ऑनर” देश के रूप में नामित किया गया है, जो नेतृत्व और यूएई और भारत के लोगों के बीच मजबूत संबंधों को दर्शाता है।
ii.मेले में 50 से अधिक देशों के 1000 से अधिक प्रतिभागी शामिल होंगे और भारत के 30 प्रकाशन गृह मेले में भाग ले रहे हैं। मेले का उद्देश्य यूएई की समृद्ध विरासत को उजागर करना है, इसकी प्रामाणिकता और सांस्कृतिकता को प्रदर्शित करना है।
iii.संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के भारतीय राजदूत नवदीप सूरी ने अपनी पुस्तक, “इंकेड इन ब्लड एंड स्पिरिट ऑफ फ्रीडम” जारी कि जो जलियांवाला बाग हत्याकांड पर कविता ‘खूनी बैसाखी’ का अंग्रेजी अनुवाद है।
iv.इसके अलावा, महात्मा गांधी के जीवन और संघर्ष पर आधारित पुस्तकें 150 वीं जयंती समारोह के हिस्से के रूप में एक विशेष ध्यान के रूप में प्रदर्शित हैं।

कजाकिस्तान ने अपने प्रधानमंत्री अस्कर मामिन की अध्यक्षता में निवेश को आकर्षित करने के लिए समन्वय परिषद का गठन किया:
i.कजाकिस्तान ने अपने प्रधानमंत्री आस्कर मामिन की अध्यक्षता में,  भारत से निवेश सहित विदेशी निवेश को आकर्षित करने के लिए समन्वय परिषद की स्थापना की है।
ii.आस्कर मामिन के तहत निवेशकों के साथ कुशलता से बातचीत करके और मौजूदा मुद्दों के समाधान प्रदान करके कजाकिस्तान में निवेश परिदृश्य में सुधार के लिए नए दृष्टिकोणों के साथ व्यापार करने के लिए निवेश लोकपाल के कार्यों को पूरा करने का निर्णय लिया गया।
iii.मामिन ने सूचित किया कि नूरसुल्तान नज़रबायेव, कजाकिस्तान गणराज्य के पहले राष्ट्रपति और राष्ट्र के नेता, ने उन्हें कजाकिस्तान में स्थायी आर्थिक विकास दर सुनिश्चित करने के लिए काम सौंपा है।
iv.इस तरह के कार्य के लिए राष्ट्र की जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) की निश्चित परिसंपत्तियों में निवेश की मात्रा को मध्यम अवधि में 30% तक बढ़ाना है और प्राथमिक चालक प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) होना चाहिए।
v.बैठक ने अस्ताना अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय केंद्र (एआईएफसी) को निवेश और संवर्धन (क्षेत्रीय निवेश हब) पर काम के समन्वय के लिए एकीकृत केंद्र के रूप में चुना हैं। इसमें एकल खिड़की के सिद्धांतों और एकल पूल निवेश परियोजनाओं के गठन पर निवेशकों के लिए सेवाओं का प्रावधान है।
vi.बैठक में राष्ट्रीय संयुक्त स्टॉक कंपनी, कजाख इन्वेस्ट में सरकार के स्वामित्व वाली हिस्सेदारी को एआईएफसी के गोपनीय प्रबंधन में पारित करने का निर्णय लिया गया।
vii.एएफआईसी मंच में वर्तमान में एएफआईसी कोर्ट, इंटरनेशनल आर्बिट्रेशन सेंटर, एएफआईसी एक्सचेंज, द एक्सपैट सेंटर सहित आवश्यक अवसंरचना मौजूद है। एएफआईसी की स्थापना 2018 में नूर-सुल्तान कजाकिस्तान में इसके मुख्यालय के साथ की गई थी, इसके गवर्नर केरात केलिम्बेतोव है।
कजाकिस्तान:
♦ राजधानी: नूर-सुल्तान
♦ मुद्रा: कजाकिस्तानी तेंगे

पाकिस्तान के साथ मिलकर ईरान ने आतंकवाद से लड़ने के लिए संयुक्त सीमा ‘रिएक्शन फोर्स’ स्थापित करने पर सहमति व्यक्त की:Iran in collaboration with Pakistani.ईरानी राष्ट्रपति हसन रोहानी और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने दोनों पक्षों के उग्रवादी समूहों द्वारा हमलों का मुकाबला करने के लिए एक संयुक्त सीमा ‘रिएक्शन फोर्स’ स्थापित करने पर सहमति व्यक्त की है।
ii.ईरान-पाकिस्तान सीमा दक्षिण-पूर्वी ईरानी प्रांत सिस्तान-बलूचिस्तान (ईरान का दूसरा सबसे बड़ा प्रांत, इसकी राजधानी ज़ाहेदान के साथ) से घिरी है, जहाँ ईरान के सुरक्षा बलों पर लगातार हमले हुए हैं।
iii.चूंकि ईरान-पाकिस्तान के संबंध दोनों देशों के एक-दूसरे पर आतंकवादियों के उन्मूलन के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठाने के आरोप-प्रत्यारोप के कारण टूट गए थे, उन्होंने सीमा बलों और खुफिया एजेंसियों के बीच सहयोग बढ़ाकर एक संयुक्त त्वरित प्रतिक्रिया बल बनाने के लिए सहयोग करने का निर्णय लिया है।
ईरान:
♦ राजधानी: तेहरान
♦ मुद्रा: ईरानी रियाल

BANKING & FINANCE

कोटक महिंद्रा बैंक एनपीसीआई के ई-मैंडेट एपीआई प्लेटफॉर्म पर डेबिट कार्ड आधारित ई-मैंडेट लॉन्च करने वाला पहला गंतव्य बैंक बन गया:Kotak-Mahindra-Banki.कोटक महिंद्रा बैंक (कोटक) ने एनपीसीआई के (नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया) ई-मैंडेट (इलेक्ट्रॉनिक मैंडेट) एपीआई (एप्लीकेशन प्रोग्राम इंटरफेस) प्लेटफॉर्म पर पहला डेबिट कार्ड-आधारित प्रमाणीकरण समाधान लॉन्च किया है,इस प्रकार यह नेट बैंकिंग और डेबिट कार्ड-आधारित ई-मैंडेट प्रमाणीकरण को लागू करने वाला पहला गंतव्य बैंक बन गया है।
ii.इस पहल का उद्देश्य कोटक ग्राहकों को इलेक्ट्रॉनिक मैंडेट को बनाने के लिए (आधार + ओटीपी के साथ पुराने ई-नाच के समान) (ई-नाच – इलेक्ट्रॉनिक नेशनल ऑटोमेटेड क्लियरिंग हाउस, ओटीपी- वन टाइम पासवर्ड) दोनों डेबिट कार्ड और नेट बैंकिंग प्रावधान के माध्यम से सक्षम करना है।
iii.चूंकि एपीआई आधारित ई-मैंडेट ग्राहक-हितैषी, तेज, घर्षण रहित और कागज रहित होते हैं, इस पहल से आवर्ती भुगतानों को संभालने के लिए इसके ग्राहकों के जीवन को परेशानी मुक्त बनाने में मदद मिलेगी।
iv.ई-मैंडेट्स अपने सुरक्षा लाभ, मूल्य निर्धारण, परिचालन दक्षता और टर्नअराउंड समय के कारण फिजिकल मैंडेट्स से काफी लाभप्रद हैं।
v.इसके अलावा, ई-मैंडेट्स क्लाइंट सेगमेंट, अर्थात्, बैंकिंग, एनबीएफसी (नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी), इंश्योरेंस, यूटिलिटी कंपनियों, म्यूचुअल फंड, औटीटी (ओवर-द-टॉप), ई-कॉमर्स और शिक्षण संस्थानों में कुशलता से काम करेगा।

आरबीआई ने एचडीएफसी के बंधन बैंक में 9.9% हिस्सेदारी रखने के प्रस्ताव को मंजूरी दी:HDFC Banki.आरबीआई (रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया) ने एचडीएफसी लिमिटेड को ग्रुह फाइनेंस सौदे के बाद बंधन बैंक में 9.9% हिस्सेदारी रखने की मंजूरी दे दी है।
ii.ग्रुह फाइनेंस एचडीएफसी लिमिटेड की हाउसिंग फाइनेंस शाखा है और जिसे जनवरी में बंधन बैंक द्वारा शेयर-स्वैप सौदे में ख़रीदा गया था।
iii.इस योजना को राष्ट्रीय कंपनी कानून न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) और ग्रुह फाइनेंस और बंधन बैंक के शेयरधारकों से अनुमोदन प्राप्त करना बाकी है।
iv.ग्रुह फाइनेंस सौदे से बंधन बैंक में बंधन फाइनेंशियल होल्डिंग्स लिमिटेड की हिस्सेदारी 82% से घटकर 61% हो जाएगी।
v.विलय के लिए शेयर स्वैप अनुपात 568:1000 होगा जो कि ग्रुह फाइनेंस के प्रत्येक 1,000 शेयरों के लिए बंधन बैंक के 568 शेयर हैं।

आरबीआई ब्याज दर सहजता का चक्र शुरू करने वाला पहला एपीएसी (एशिया-प्रशांत क्षेत्र) का केंद्रीय बैंक बन गया:RBIi.फिच रेटिंग ने सूचित किया कि भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) एशिया-प्रशांत क्षेत्र (एपीएसी) में पहला केंद्रीय बैंक बन गया है, जिसने सौम्य खाद्य मुद्रास्फीति और आसान वैश्विक वित्तीय स्थिति के आधार पर ब्याज दर सहजता चक्र शुरू किया है।
ii.आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास की अध्यक्षता वाली मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने फरवरी और अप्रैल में मुद्रास्फीति की संभावनाओं का हवाला देते हुए दरों में कटौती की थी।
iii.2019 के 4 महीनों में, आरबीआई ने पॉलिसी ब्याज दरों में 2 बार 0.25% की हर बार कटौती की है, जो कि एक वर्ष के निचले स्तर 6% पर है। यह एमपीसी के 2016 में गठन के बाद से एक के बाद एक दर में कटौती है।
iv.2.9% की मुद्रास्फीति आरबीआई के 4% (+/- 2% के साथ) के सहूलियत क्षेत्र के भीतर है। फिच की रिपोर्ट में कहा गया है कि राजकोषीय फिसलन आरबीआई के लक्ष्यों के सापेक्ष राजकोषीय समेकन को रोक रही है।
v.फिच ने भारत के लिए चालू वित्त वर्ष में 6.8% और अगले वर्ष 7.1% की वृद्धि का अनुमान लगाया है।

BUSINESS & ECONOMY

खाद्य नियामक एफएसएसएआई ने चीन से आयात दूध उत्पादों पर प्रतिबंध बढ़ा दिया, जब तक बंदरगाहों पर सभी प्रयोगशालाओं को जहरीले रासायनिक मेलामाइन का परीक्षण करने के लिए उन्नत किया जाता:
i.सरकार ने चीन से दूध और दूध उत्पादों (चॉकलेट, चॉकलेट उत्पाद, कैंडी, मिष्ठान्न, एक घटक के रूप में दूध या दूध ठोस पदार्थों के साथ भोजन की तैयारी) के आयात पर प्रतिबंध को बढ़ा दिया है।
ii.सितंबर 2008 में दूध उत्पादों पर पहली बार प्रतिबंध लगाया गया था और इसे समय-समय पर लगातार बढ़ाया गया था। सरकार द्वारा लगाया गया हालिया प्रतिबंध 23 अप्रैल, 2019 को समाप्त हो गया।
iii.खाद्य नियामक एफएसएसएआई (फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया) ने सिफारिश की है कि जहरीले रासायनिक मेलामाइन की उपस्थिति का परीक्षण करने के लिए बंदरगाहों पर प्रयोगशालाओं के आधुनिकीकरण तक प्रतिबंध को बढ़ाया जाना चाहिए। मेलामाइन एक बेहद जहरीला रसायन है जो प्लास्टिक और उर्वरक बनाने के लिए उपयोग किया जाता है।
iv.हालांकि भारत चीन से दूध या दुग्ध उत्पादों का आयात नहीं करता है, लेकिन निवारक उपायों के कारण इस पर प्रतिबंध लगाया गया है।
भारत के दुग्ध उत्पादन के बारे में तथ्य:
♦ भारत दूध का विश्व का सबसे बड़ा उत्पादक और उपभोक्ता है।
♦ भारत में हर साल लगभग 150 मिलियन टन दूध का उत्पादन होता है।
♦ उत्तर प्रदेश दूध उत्पादन में अग्रणी राज्य है और इसके बाद राजस्थान और गुजरात हैं।

थोक क्रिप्टोक्यूरेंसी ट्रेडिंग के लिए पहला भारतीय प्लेटफॉर्म बाययूकॉइन द्वारा पेश किया गया:Wholesale Cryptocurrency Trading has introduced by BuyUcoini.भारत में दूसरा सबसे पुराना क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज बाययूकॉइन, ने थोक क्रिप्टोक्यूरेंसी ट्रेडिंग के लिए एक नया और अनूठा मंच पेश किया है। यह प्लेटफॉर्म ‘फ्री ट्रेडिंग मॉडल’ पर काम करता है, जिसका अर्थ है कि यह किसी भी व्यापार पर शून्य शुल्क लेता है। यह थोक मंच, जिसे ओटीसी (ओवर-द-काउंटर) डेस्क के रूप में भी जाना जाता है, उपयोगकर्ताओं को कम कीमत उतार-चढ़ाव के साथ बड़े पैमाने पर व्यापार करने की अनुमति देता है।
ii.यह नया प्लेटफॉर्म भारतीय बाजार में क्रिप्टोकरेंसी की तरलता की समस्या को सुधारने में मदद करेगा। इससे त्वरित लेनदेन, बेहतर मूल्य और बाजार स्थिरता में भी मदद मिलेगी।

भारत का फार्मास्यूटिकल्स निर्यात 11% बढ़कर 19.2 बिलियन अमरीकी डॉलर हो गया:
i.वाणिज्य मंत्रालय के अनुसार, भारत का फार्मास्यूटिकल्स निर्यात 2018-19 में 11% बढ़कर 19.2 बिलियन अमरीकी डॉलर हो गया है। यह मुख्य रूप से उत्तरी अमेरिका और यूरोप जैसे क्षेत्रों में मांग बढ़ने के कारण है। 2017-18 में फार्मास्यूटिकल्स निर्यात 17.3 बिलियन अमरीकी डॉलर था।
ii.भारत वैश्विक स्तर पर जेनेरिक दवाओं का सबसे बड़ा प्रदाता है क्योंकि जेनेरिक दवाओं की आवश्यकता का 20 प्रतिशत (मात्रा के संदर्भ में) भारत द्वारा वैश्विक स्तर पर पूरा किया जाता था।
iii.भारतीय दवा निर्यात के लिए अन्य महत्वपूर्ण गंतव्य दक्षिण अफ्रीका, रूस, नाइजीरिया, ब्राजील और जर्मनी हैं। फार्मास्यूटिकल क्षेत्र का 2018-19 में देश के 331 बिलियन अमरीकी डालर के कुल निर्यात का लगभग 6 प्रतिशत हिस्सा है।
iv.उत्तरी अमेरिका जैसे क्षेत्रों में लगभग 30 प्रतिशत भारतीय फार्मास्युटिकल निर्यात होता है, जिसके बाद अफ्रीका 19 प्रतिशत और यूरोपीय संघ 16 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ आते है।

आरईआईटी और इनविट के लिए न्यूनतम सदस्यता की आवश्यकता सेबी द्वारा कम की गई:
i.हाल ही में, सेबी ने “रियल एस्टेट इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट्स (आरईआईटी) और इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट (इनविट) के लिए आवंटन और ट्रेडिंग लॉट साइज़ के निर्धारण के लिए दिशानिर्देश” शीर्षक वाले अपने दिशानिर्देशों में आरईआईटी और इनविट के लिए न्यूनतम सदस्यता आवश्यकता के साथ-साथ परिभाषित ट्रेडिंग लॉट को कम कर दिया है।
ii.इनिशियल ऑफर और फॉलो ऑन पब्लिक ऑफर में आवंटन का निर्धारण करने के लिए, आरईआईटी को अपनी इकाइयों को कम से कम 50,000 रुपये मूल्य के लॉट में पेश करना होता है और इनविट के मामले में, एकल लॉट का न्यूनतम मूल्य 1 लाख रुपये होना चाहिए। किसी भी निवेशक का आबंटन लॉट के गुणकों में किया जाएगा।
iii.आरईआईटी और इन्विट्स के मामले में प्रारंभिक लिस्टिंग के लिए, एक ट्रेडिंग लॉट 100 इकाइयों का होना चाहिए और फॉलो ऑन पब्लिक ऑफर के लिए, प्रत्येक लॉट में इसके ट्रेडिंग लॉट में उतनी ही इकाइयाँ शामिल होंगी जैसे कि इनिशियल ऑफर के समय थी।। इसके अलावा, सेबी ने भी इनविटएस के लिए उत्तोलन की सीमा 49 प्रतिशत से बढ़ाकर 70 प्रतिशत कर दी है।
iv.वर्तमान में, एक इनिशियल ऑफर और पब्लिक ऑफर में किसी भी निवेशक की न्यूनतम सदस्यता आरईआईटी के मामले में 2 लाख रुपये से कम नहीं है और इनविट के मामले में यह 10 लाख रुपये है।
सेबी के बारे में:
♦ स्थापित: 12 अप्रैल, 1992
♦ मुख्यालय: मुंबई, महाराष्ट्र
♦ अध्यक्ष: अजय त्यागी

APPOINTMENTS & RESIGNS

राजेन्द्र कुमार नायक ने 52 वें सी.जी.डी.ए के रूप में कार्यभार संभाला:Rajendra Kumar Nayaki.22 अप्रैल 2019 को, श्री राजेंद्र कुमार नायक को 52 वें रक्षा लेखा महानियंत्रक या कंट्रोलर जनरल ऑफ़ डिफेंस अकाउंट्स (सीजीडीए) के रूप में नियुक्त किया गया। नायक, जो 1983 बैच के भारतीय रक्षा लेखा सेवा से हैं, श्रीमती मधुलिका पी.सुकुल की जगह लेंगे।
ii.उनके पास रक्षा मंत्रालय के वित्त, कार्मिक, वेतन और बजट मामलों को संभालने का अनुभव है।
iii.नायक ने अपने करियर के 35 से अधिक वर्षों के दौरान रक्षा लेखा विभाग और भारत सरकार में प्रतिनियुक्ति पर महत्वपूर्ण कार्य किए हैं।
iv.सीजीडीए के रूप में चार्ज लेने से पहले, वह रक्षा लेखा विभाग, रक्षा मंत्रालय में अतिरिक्त रक्षा लेखा महानियंत्रक के पद पर कार्यरत थे।
भारतीय रक्षा लेखा सेवा के बारे में:
♦ गठित: 1954
♦ नियंत्रण करने वाला प्राधिकरण: रक्षा मंत्रालय
♦ वित्तीय सलाहकार, रक्षा सेवाएं: मधुलिका पी.सुकुल

उबर एशिया प्रशांत प्रमुख अमित जैन ने इस्तीफा दिया, पियरे-दिमित्री गोर-कोटी पद संभालेंगे:Pierre-Dimitri Gore-Cotyi.अमित जैन उबर एशिया-प्रशांत क्षेत्र (एपीएसी) प्रमुख ने अपने परिवार के साथ समय बिताने के लिए चार साल की सेवा के बाद मई 2019 के अंत में अपने इस्तीफे की घोषणा की। यूरोप, मध्य पूर्व और अफ्रीका के उबेर प्रमुख पियरे दिमित्री गोर कोटी एपीएसी प्रमुख का अतिरिक्त प्रभार संभालेंगे।
ii.अमित जैन जून 2015 में उबर में भारत के प्रमुख के रूप में शामिल हुए और मई 2018 में एपीएसी प्रमुख बने थे।
उबेर के बारे में:
♦ स्थापित: मार्च 2009, सैन फ्रांसिस्को, कैलिफोर्निया, संयुक्त राज्य
♦ संस्थापक: ट्रैविस कलानिक, गैरेट कैंप
♦ मुख्यालय: सैन फ्रांसिस्को, कैलिफोर्निया, संयुक्त राज्य

कर्णम सेकर को इंडियन ओवरसीज बैंक का नया एमडी और सीईओ नियुक्त किया गया:Karnam Sekari.कर्णम सेकर, देना बैंक के पूर्व प्रबंध निदेशक, को इंडियन ओवरसीज बैंक के नए प्रबंध निदेशक (एमडी) और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) के रूप में नियुक्त किया गया है। वह 1 जुलाई, 2019 से पद ग्रहण करेंगे।
ii.वह एक अप्रैल से आर सुब्रमण्यकुमार से पदभार संभालने के समय तक, जो तत्कालीन सीईओ और एमडी थे, आईओंबी (इंडियन ओवरसीज बैंक) में विशेष ड्यूटी पर एक अधिकारी के रूप में काम कर रहे थे।
iii.आर सुब्रमण्यकुमार ने उच्च गैर-निष्पादित संपत्तियो के कारण आईओबी को घाटे से निकालने के उपाय शुरू किए थे।
iv.देना बैंक में उनके कार्यकाल से पहले वह स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) में डिप्टी मैनेजिंग डायरेक्टर और चीफ क्रेडिट ऑफिसर थे।

विप्रो बीएफएसआई के अध्यक्ष शाजी फारूक ने इस्तीफा दिया:Shaji Farooqi.23 अप्रैल 2019 को, विप्रो की बैंकिंग वित्तीय सेवाएं और बीमा (बीएफएसआई) व्यापार इकाई के अध्यक्ष, शाज़ी फारूक ने स्वास्थ्य कारणों से 5 साल बाद कंपनी से इस्तीफा दे दिया है। उनकी जगह अंगन गुहा लेंगे, जो 1 जुलाई से बीएफएसआई इकाई के वरिष्ठ वीपी (वाइस प्रेसिडेंट) और वैश्विक प्रमुख के रूप में कार्यभार संभालेंगे।
ii.उन्हें विप्रो के मूल निर्णय लेने वाले फ्रेम ‘समूह कार्यकारी परिषद’ में शामिल किया गया था, जो विप्रो नेताओं के एक मुख्य कार्यबल से बना था, जो 8 अरब डॉलर के आईटी कॉरपोरेट की दीर्घकालिक कल्पनाशील और पूर्वज्ञान रखनेवाली शक्ति है।
iii.उन्होंने विप्रो में इंफोसिस और एक्सेंचर जैसी अन्य आईटी कंपनियों को टक्कर देने के लिए एक प्रतिष्ठित आईटी डीलर होने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।
विप्रो के बारे में:
♦ स्थापित: 29 दिसंबर 1945
♦ संस्थापक: मोहम्मद हाशिम प्रेमजी
♦ मुख्यालय: बैंगलोर

ACQUISITIONS & MERGERS

इंडसइंड बैंक को भारत फाइनेंशियल इन्क्लूजन के साथ विलय के लिए एनसीएलटी की मंजूरी मिली:IndusInd Bank- Bharat Financial Inclusioni.हाल ही में नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) ने निजी क्षेत्र के ऋणदाता इंडसइंड बैंक के एक माइक्रोफाइनांस कंपनी, भारत फाइनेंशियल इन्क्लूजन (बीएफआईएल) के साथ विलय को मंजूरी दे दी है। अब, बीएफआईएल इंडसइंड बैंक की सहायक कंपनी बन गई है। पिछले साल इंडसइंड बैंक को भारतीय रिजर्व बैंक, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज की ‘नो ऑब्जेक्शन’ मंजूरी मिली थी।
इंडसइंड बैंक के बारे में:
♦ मुख्यालय: मुंबई
♦ सीईओ: रोमेश सोबती
♦ टैगलाइन: वी मेक यू फील रीचर
नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) के बारे में:
♦ एनसीएलटी कंपनी अधिनियम, 2013 के तहत स्थापित एक अर्ध न्यायिक निकाय है। इस निकाय की स्थापना एराडी समिति की सिफारिशों के द्वारा की गई थी। एनसीएलटी भारतीय कंपनियों से संबंधित मुद्दों के मामलों को देखता है।
♦ मुख्यालय: नई दिल्ली

SCIENCE & TECHNOLOGY

शोधों से पता चला हैं कि जीवन शैली जीन को कैसे प्रभावित करती है:
i.24 अप्रैल 2019 को, लुंड यूनिवर्सिटी डायबिटीज सेंटर,स्वीडन के शोधकर्ताओं ने ‘एपिजेनेटिक मैकेनिज्म’ नामक एक नए अध्ययन में पता लगाया है कि जीवन शैली मानव शरीर में जीन और रोग के विकास को कैसे प्रभावित करती है।
ii.अध्ययन का विवरण जर्नल सेल मेटाबॉलिज़्म में प्रकाशित किया गया था।
iii.एपिजेनेटिक्स जीन में आनुवंशिक परिवर्तनों का अध्ययन है जो आयु, पर्यावरण और विशेष रोग की स्थिति सहित कई कारकों से प्रभावित हो सकता है।
iv.एपिजेनेटिक तंत्र विभिन्न जीनों की गतिविधि को नियंत्रित करते हैं और रोग के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। आनुवंशिक सामग्री (डीएनए), आयु, व्यायाम और आहार में भिन्नता भी इस भिन्नता पर प्रभाव डालती है।
v.नवीनतम एपिजेनेटिक्स निष्कर्षों में जिन श्रेणियों पर विचार किया गया, वे हैं:
-आहार का महत्व
-शारीरिक गतिविधि
-उम्र बढ़ना
-जीन का महत्व
-क्या एपिजेनोम आनुवंशिक है?
-एपिजेनेटिक्स नव उपचार में कैसे योगदान कर सकते हैं?

मलावी में दुनिया का पहला मलेरिया वैक्सीन लॉन्च किया गया:Malaria vaccine launched in Malawii.दुनिया का पहला मलेरिया वैक्सीन आरटीएस, जिसे मोस्कुइरिक्स भी कहा जाता है, को मलावी में लॉन्च किया गया है, जो विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचऔ) द्वारा समन्वित एक लैंडमार्क प्राथमिक कार्यक्रम में अफ्रीका के तीन देशों में से एक हैं,अन्य दो अफ्रीकी देश घाना और केन्या हैं। यह वैक्सीन 1987 में ब्रिटिश फार्मास्युटिकल की दिग्गज कंपनी ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन (जीएसके) द्वारा बनाई गई और उसके बाद इस वैक्सीन को 30 वर्षों के परीक्षण से गुजरना पड़ा है, जिसे एक गैर-लाभकारी संगठन पाथ सहित कई संगठनों द्वारा समर्थित किया गया था। इस प्राथमिक प्रोजेक्ट का लक्ष्य तीनों देशों में प्रति वर्ष 360,000 बच्चों तक पहुंचना है।
ii.मलेरिया का टीका 2 वर्ष तक के बच्चों को प्रदान किया जाएगा और यह कुल 4 खुराक में दिया जाएगा, पहली तीन खुराक पांच से नौ महीने की उम्र के बीच और चौथी खुराक दुसरे जन्मदिन के आसपास दी जाएगी।
iii.30 साल के क्लिनिकल परीक्षण के दौरान, वैज्ञानिकों ने पाया था कि वैक्सीन 10 मलेरिया मामलों में से लगभग 4 को रोकता है, जिनमें से 10 गंभीर मलेरिया के मामले में 3 मामले शामिल होते हैं।
iv.यह घाना, केन्या और मलावी के स्वास्थ्य मंत्रालयों और अन्य अंतरराष्ट्रीय भागीदारों जैसे पाथ, वैक्सीन विकासक और निर्माता जीएसके के साथ डब्ल्यूएचओ का एक सहयोगी प्रयास है।
v.इस प्राथमिक प्रोजेक्ट को तीन प्रमुख वैश्विक स्वास्थ्य निधि निकायों द्वारा वित्तपोषित किया गया है: गेवी, वैक्सीन एलायंस, द ग्लोबल फंड टू फाइट एड्स, ट्यूबरकुलोसिस एंड मलेरिया और यूनिटैड और अन्य संगठन जैसे द बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन भी वैक्सीन का एक वित्तपोषक है।
डब्ल्यूएचओ के बारे में:
♦ स्थापित: 7 अप्रैल, 1948
♦ मुख्यालय: जिनेवा, स्विट्जरलैंड
♦ महानिदेशक: टेड्रोस एधानोम
स्टैटिक जी.के.

देश  राजधानी मुद्रा 
मलावी लिलोंग्वे मलावीयन क्वाचा
घाना अक्करा घानियन सेडी
केन्या नैरोबी केन्याई शिलिंग

एक स्वदेशी क्रूज मिसाइल का पाकिस्तान नेवी ने सफलतापूर्वक परीक्षण किया:
i.उत्तरी अरब सागर में इसके नवीनतम अज़मत-वर्ग पैट्रोल क्राफ्ट, पीएनएस हिम्मत (1027) से पाकिस्तान नेवी द्वारा स्वदेशी विकसित क्रूज मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया।
ii.क्रूज मिसाइल में एंटी-शिप मिसाइल और भूमि हमले की क्षमता है। पाकिस्तान सशस्त्र बल की मीडिया शाखा, इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) ने मिसाइल प्रकार का खुलासा नहीं किया है जिसका पाकिस्तान की नौसेना ने परीक्षण किया है।
पाकिस्तान:
♦ राजधानी: इस्लामाबाद
♦ मुद्रा: पाकिस्तानी रुपया

आईसीजीएस सी-441 को विझिनजाम में बेड़े में शामिल किया गया:
24 अप्रैल 2018 को, नवनिर्मित कोस्ट गार्ड पोत आईसीजीएस सी-441 को टॉम जोस, केरल के मुख्य सचिव द्वारा विझिनजाम बंदरगाह, तिरुवनंतपुरम में सेवा में नियुक्त किया गया। यह श्रृंखला का सातवां इंटरसेप्टर पोत है जिसे मैसर्स एल एंड टी लिमिटेड (लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड), सूरत द्वारा बनाया गया है। महानिरीक्षक विजय डी चफेकर, पीटीएम, टीएम, कमांडर तट रक्षक क्षेत्र (पश्चिम) मुंबई ने इस समारोह में भाग लिया।
आईसीजीएस सी-441 के बारे में:
i.यह 27.4 मीटर लंबा है और इसमें 106 टन विस्थापन क्षमता है और यह 45 समुद्री मील (83 किमी / घंटा) की अधिकतम गति प्राप्त कर सकता है।
ii.जहाज जुड़वां डीजल इंजन और जुड़वां जल-जेट प्रोपल्शन प्रणाली द्वारा संचालित है और 25 समुद्री मील की गति पर 500 एनएम की मज़बूती रखता है।
iii.यह समुद्र तट पर संकट में नौकाओं और शिल्पों को सहायता प्रदान करते हुए करीबी तट निगरानी, ​​निषेध, खोज और बचाव करने के लिए बनाया गया है।
iv.अत्याधुनिक संचार, नौवहन उपकरण के साथ साथ हल्के, मध्यम और भारी स्वचालित मशीन बंदूक को जहाज पर फिट किया गया है।
v.पोत इन्फ़रा रेड निगरानी क्षमता से सुसज्जित है और कम पानी के साथ-साथ गहरे समुद्र में भी काम कर सकता है।
vi.सहायक कमांडेंट अमित के.चौधरी और विभिन्न क्षेत्रों में विशेषज्ञता प्राप्त 13 नामांकित कर्मी पोत का संचालन करेंगे।
विझिनजाम अंतर्राष्ट्रीय बंदरगाह के बारे में:
♦ स्थान: विझिनजाम, तिरुवनंतपुरम, केरल
♦ द्वारा संचालित: विझिनजाम इंटरनेशनल सीपोर्ट लिमिटेड
♦ स्वामित्व: केरल सरकार

OBITUARY

बुजुर्ग  महिला पर्वतारोही रमा सेनगुप्ता पॉल का 66 वर्ष की आयु में निधन हो गया:
i.21 अप्रैल 2019 को, बुजुर्ग महिला पर्वतारोही रमा सेनगुप्ता पॉल का 66 वर्ष की आयु में हृदय गति रुकने के कारण शहर के एक अस्पताल में निधन हो गया।
ii.उन्होंने गढ़वाल हिमालय में केदारनाथ गुंबद के लिए पहले सफल सभी महिला अभियान का नेतृत्व किया, जिसे शहर के हिमालयन एसोसिएशन द्वारा 1975 में महिलाओं का अंतर्राष्ट्रीय वर्ष मनाने के लिए आयोजित किया गया था।
iii.वह 1976 में इंडियन माउंटेनियरिंग फाउंडेशन द्वारा आयोजित कमेट और अबी गमिन में भारत-जापानी महिला अभियान की सदस्य थीं और 1978 में उन्होंने हिमाचल प्रदेश में हिमालयन एसोसिएशन के धर्मसुरा में एक और सभी महिलाओं अभियान का नेतृत्व किया।
iv.वह एक सेवानिवृत्त बैंक अधिकारी थीं, जिन्होंने पश्चिम बंगाल के कई पहाड़ चढ़ाई और एडवेंचर कैंपों में युवाओं और छात्रों का मार्गदर्शन किया।

लक्जमबर्ग के ग्रैंड ड्यूक जीन का 98 वर्ष की आयु में निधन हो गया:Grand Duke Jeani. 23 अप्रैल 2019 को, लक्समबर्ग के ग्रैंड ड्यूक जीन का 98 वर्ष की आयु में फेफड़ों संबंधी संक्रमण के कारण निधन हो गया।
ii.उनका जन्म 5 जनवरी 1921 को लक्जमबर्ग के बर्ग कैसल में हुआ था।
iii.1942 में उन्होंने ब्रिटेन के सैंडहर्स्ट में सैन्य प्रशिक्षण प्राप्त किया और 1944 में उन्होंने नॉरमैंडी में मित्र देशों की सेना में शामिल होने से पहले बकिंघम पैलेस में एक गार्ड के रूप में कार्य किया।
iv.1963 में, वह लक्ज़मबर्ग के छठे ग्रैंड ड्यूक बन गए, लगभग 36 वर्षों तक इस पद पर रहे और 2000 में अपनी बेटे हेनरी के पक्ष में पद त्याग दिया।

BOOKS & AUTHORS

कोंकणी में ‘भारतीय संविधान’ पुस्तक का विमोचन किया गया:Indian constitution booki.21 अप्रैल 2019 को, मंगलुरु धर्माध्यक्ष पीटर पॉल सल्दान्हा ने रोसारियो कैथेड्रल में भारतीय संविधान का कोंकणी अनुवाद जारी किया है।
ii.प्रो स्टीफन क्वाड्रोस पर्मूड, जिन्होंने कोंकणी में कई पुस्तके लिखी हैं, ने पुस्तक का अनुवाद किया है।
iii.इसे मंगलुरु डॉयचेसन कमीशन द्वारा जारी किया गया है, जिसका नेतृत्व इसके संयोजक फ्र जे बी क्रस्टा कर रहे हैं।

IMPORTANT DAYS

शांति के लिए बहुपक्षवाद और कूटनीति का पहला आधिकारिक अंतर्राष्ट्रीय दिवस 24 अप्रैल को मनाया गया:
i.शांति के माध्यम से राष्ट्रों के बीच विवादों को हल करने के लिए संयुक्त राष्ट्र चार्टर और इसके सिद्धांतों का समर्थन करने के लिए 24 अप्रैल को वार्षिक रूप से शांति के लिए बहुपक्षवाद और कूटनीति का अंतर्राष्ट्रीय दिवस मनाया जाता है। दिन को बढ़ावा देने के लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा ने उसी दिन एक दिवसीय उच्च स्तरीय पूर्ण बैठक बुलाई।
ii.इस तारीख को संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा संकल्प ए/ आरईएस/ 73/127 के माध्यम से 12 दिसंबर 2018 को शांति के लिए बहुपक्षवाद और कूटनीति के अंतर्राष्ट्रीय दिवस के रूप में नामित किया गया था।
iii.इस दिन को संयुक्त राष्ट्र के तीन स्तंभों-शांति और सुरक्षा, विकास और मानव अधिकारों को समर्थन और बढ़ावा देने के लिए घोषित किया गया था।

24 अप्रैल को प्रयोगशाला में पशुओं के लिए विश्व दिवस मनाया गया:
i.24 अप्रैल 2019 को, प्रयोगशाला में पशुओं के लिए विश्व दिवस, जिसे विश्व प्रयोगशाला पशु दिवस के रूप में भी जाना जाता है, दुनिया भर की प्रयोगशालाओं में जानवरों की पीड़ा को समाप्त करने और उन्नत वैज्ञानिक गैर-पशु तकनीकों के साथ उनके प्रतिस्थापन के आंदोलन के लिए मनाया गया था। संग्लित सप्ताह को “प्रयोगशालाओं में जानवरों के लिए विश्व सप्ताह” (डव्लूडव्लूएआईएल) के रूप में जाना जाता है, इसे 21-28 अप्रैल तक मनाया जाता है।
ii.ह्यूग डाउडिंग के जन्मदिन को विश्व प्रयोगशाला पशु संरक्षण दिवस की तारीख के रूप में चुना गया था। वह न केवल ग्रेट ब्रिटेन की रॉयल एयर फोर्स के एक अधिकारी थे, बल्कि एक प्रसिद्ध पशु अधिकार सेनानी और नेशनल एंटी-विविसेक्शन सोसाइटी (एनएवीएस) के पूर्व अध्यक्ष भी थे।
iii.इस दिवस की स्थापना 1979 में एनएवीएस द्वारा की गई थी। उन्होंने प्रयोगशालाओं में जानवरों के दिवस को “स्मरणोत्सव के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस” ​​के रूप में वर्णित किया।
iv.सोसायटी की स्थापना लंदन में 1875 में आयरिश सक्रियतावादी फ्रांसिस पावर कोब द्वारा की गई थी।
v.दुनिया में एक वर्ष में 150 मिलियन से अधिक प्रायोगिक जानवरों को मार दिया जाता है और इनमें से लगभग 65% का दवाओं और नए उपचारों का परीक्षण करते समय चिकित्सा अनुसंधान में उपयोग किया जाता है।

STATE NEWS

कलकत्ता स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट्स क्लब के वार्षिक पुरस्कार 2019:
i.23 अप्रैल 2019 को भारत की राष्ट्रीय महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान, झूलन गोस्वामी, को कोलकाता, पश्चिम बंगाल में कोलकाता में आयोजित कलकत्ता स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट्स क्लब (सीएसजेसी) के वार्षिक पुरस्कार समारोह 2019 में ‘स्पोर्ट्सपर्सन ऑफ द ईयर’ सम्मान से सम्मानित किया गया, जबकि सुकुमार समाजपति, पूर्व भारतीय विंगर और सांभरन बनर्जी, पूर्व राष्ट्रीय चयनकर्ता और बंगाल के रणजी ट्रॉफी विजेता कप्तान को ‘लाइफटाइम अचीवमेंट’ पुरस्कार से सम्मानित किया।
अन्य पुरस्कार विजेता:
विशेष पुरस्कार (ब्रिज) -शिबनाथ दे सरकार और प्रणब बर्धन
विशेष पुरस्कार (कबड्डी)-पायल चौधरी
प्रोमिसिंग स्पोर्ट्सपर्सन ऑफ द ईयर- नीलाश साहा
राज्य पुरस्कार:
सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर – तनुश्री सरकार
सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर- प्रीतम कोटल
सर्वश्रेष्ठ एथलीट- लिली दास
सर्वश्रेष्ठ शतरंज खिलाड़ी- उत्सव चटर्जी
सर्वश्रेष्ठ टीटी खिलाड़ी- कृत्तविका सिन्हा रॉय
पश्चिम बंगाल:
♦ राजधानी: कोलकाता
♦ मुख्यमंत्री: ममता बनर्जी
♦ नृत्य रूप: बौल, पुरुलिया छाऊ, संथाली नृत्य, मुंडारी नृत्य, गजन, दुर्गा पूजा, ढाक, ढोलबदन।
♦ त्यौहार: दुर्गापूजा, अक्षय तृतीया, गंधेश्वरी पूजा, बुद्ध पूर्णिमा, जमाई षष्ठी, लोकनाथब्रह्मचारी की पुण्यतिथि, स्नान यात्रा, बिपत्तारिणी ब्रत, झूलनयात्रा।