Current Affairs PDF

RBI ने विनिर्माण, सेवा क्षेत्र पर 2 तिमाही सर्वेक्षण शुरू किए: IOS, SIOS

AffairsCloud YouTube Channel - Click Here

AffairsCloud APP Click Here

RBI Launches Surveys to Assess Performance of Manufacturing Sector20 जुलाई 2021 को, भारतीय रिजर्व बैंक(RBI) ने तिमाही ‘इंडस्ट्रियल आउटलुक सर्वे’ (IOS) का 95वां दौर शुरू किया, जो भारतीय विनिर्माण क्षेत्र के प्रदर्शन का आकलन करता है। सर्वेक्षण के लिए संदर्भ अवधि Q2 FY22 (जुलाई-सितंबर 2021) है।

  • IOS के तहत, RBI Q2 FY22 के लिए विनिर्माण क्षेत्र के व्यवसाय के प्रदर्शन और Q3 FY22 में विकास की उम्मीदों का आकलन करेगा।

-RBI ने त्रैमासिक SIOS का 30वां दौर शुरू किया

RBI ने Q2 FY22 की संदर्भ अवधि के लिए तिमाही ‘सर्विसेज एंड इंफ्रास्ट्रक्चर आउटलुक सर्वे’ (SIOS) के 30 वें दौर की शुरुआत की।

  • SIOS के तहत, RBI मांग की स्थिति, वित्तीय स्थितियों, रोजगार की स्थिति और कीमत की स्थिति के तहत प्रतिक्रियाओं के आधार पर भारत में सेवाओं और बुनियादी ढांचा क्षेत्रों में चयनित कंपनियों की व्यावसायिक स्थिति का आकलन करेगा।

नोट- RBI ने Q2 FY22 के लिए RBI की ओर से IOS और SIOS का संचालन करने के लिए M/s जेनेसिस मैनेजमेंट एंड मार्केट रिसर्च प्राइवेट लिमिटेड को अधिकृत किया है।

-Q4 FY21 में निजी कॉर्पोरेट क्षेत्र के प्रदर्शन पर RBI की रिपोर्ट

RBI ने Q4 FY21 (जनवरी-मार्च 2021) में निजी कॉर्पोरेट क्षेत्र के प्रदर्शन पर डेटा भी जारी किया। डेटा 2,608 सूचीबद्ध नॉन-गवर्नमेंट नॉन-फाइनेंसियल (NGNF) कंपनियों के तिमाही वित्तीय परिणामों पर आधारित था।

रिपोर्ट की मुख्य बातें:

संकेतक Q4 FY21 में प्रदर्शन
सूचीबद्ध निजी विनिर्माण कंपनियां इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी(IT) क्षेत्र कंपनियां गैर-IT क्षेत्र
बिक्री Q3 FY21 में 7.4% से 31% (वर्ष-दर-वर्ष) बढ़ा। 6.4% की वृद्धि (वर्ष-दर-वर्ष) सीमांत वृद्धि
व्यय कच्चे माल पर खर्च बढ़ा; स्टाफ की वृद्धि भी बढ़ी
परिचालन लाभ व्यय की तुलना में बिक्री में वृद्धि के कारण वृद्धि (वर्ष-दर-वर्ष) वृद्धि
इंटरेस्ट कवरेज रेश्यो (ICR) Q3 FY21 में 6.6% से बढ़कर 7.3% हो गया 1 से नीचे रहा

नोट – ICR किसी कंपनी की ऋण चुकौती क्षमता का माप है। व्यवहार्य ICR के लिए न्यूनतम मूल्य 1 है।

हाल के संबंधित समाचार:

जून 2021 में, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने ‘कंप्यूटर सॉफ्टवेयर एंड इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी इनेबल्ड सर्विसेज (ITES) एक्सपोर्ट्स‘ पर अपने वार्षिक सर्वेक्षण का FY21 दौर शुरू किया।

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के कार्य:

i.मौद्रिक नीति तैयार करना – RBI चुनौतियों का सामना करने और अर्थव्यवस्था की कीमत स्थिरता बनाए रखने के लिए देश की मौद्रिक नीति तैयार करता है।

ii.तय बेंचमार्क ब्याज दर – RBI गवर्नर की अध्यक्षता में 6 सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति बेंचमार्क रेपो दर तय करती है।

iii.विदेशी मुद्रा (फोरेक्स) को विनियमित करें – फोरेक्स मैनेजमेंट एक्ट (‘FEMA’) में RBI को विदेशी मुद्रा भंडार का प्रबंधन करने की परिकल्पना की गई है।