Current Affairs Today In Hindi – 14 September 2018

हैलो दोस्तों, affairscloud.com में आपका स्वागत है। हम यहां आपके लिए 14 सितम्बर,2018  के महत्वपूर्ण करंट अफेयर्स  को विभिन्न अख़बारों जैसे द हिंदू, द इकोनॉमिक टाइम्स, पीआईबी, टाइम्स ऑफ इंडिया, इंडिया टुडे, इंडियन एक्सप्रेस, बिजनेस स्टैंडर्ड,जागरण से चुन करके एक अनूठे रूप में पेश करते हैं । हमारे Current Affairs से आपको बैंकिंग, बीमा, यूपीएससी, एसएससी, सीएलएटी, रेलवे और अन्य सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में अच्छे अंक प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

Click here to Read Current Affairs Today in Hindi – 13 September 2018 Current Affairs September 14 2018

राष्ट्रीय समाचार

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने 10881 करोड़ रुपये के परिव्यय के साथ डेयरी प्रसंस्करण एवं अवसंरचना विकास कोष की शुरुआत की:Dairy Processing & Infrastructure Development Fund with an outlay of Rs 10881 crore was launched by Agriculture Ministeri.14 सितंबर, 2018 को, केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने 10881 करोड़ रुपये के परिव्यय के साथ डेयरी प्रसंस्करण एवं अवसंरचना विकास कोष की शुरुआत की।
ii.यह नई दिल्ली में डेयरी प्रोसेसिंग एंड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट फंड (डीआईडीएफ) के उद्घाटन के अवसर पर किया गया था।
iii.इसका उद्देश्य डेयरी किसानों की आय को दोगुना करने में मदद करना है।
iv.डेयरी किसानों की आमदनी दोगुनी करने के लिए तैयार राष्ट्र कार्य योजना (विजन -2024) के तहत कुल आवश्यकता 51,077 करोड़ रुपये है।
v.इस लक्ष्य को पाने के लिये केंद्रीय बजट 2017-18 की घोषणा के परिणामस्वरूप पशुपालन डेयरी और मत्स्यपालन विभाग, भारत सरकार ने डेयरी प्रसंस्करण एवं अवसंरचना विकास कोष (डीआईडीएफ) की शुरुआत 10881 करोड़ रुपये के योजना परिव्यय के साथ की है जिसके तहत आज राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड (एनडीडीबी) को 440 करोड़ रुपये की पहली किस्त दी जा रही है।
vi.डेयरी प्रसंस्करण एवं अवसंरचना विकास कोष से 50 हजार गांवों में 95 लाख दूध उत्पादक लाभान्वित होंगे।
vii.योजना से प्रतिदिन 126 लाख लीटर की अतिरिक्त दुग्ध प्रसंस्करण क्षमता, 210 टन दूध को सुखाने की दैनिक क्षमता, प्रतिदिन 140 लाख लीटर की दुग्ध अवशीतन क्षमता का सृजन होगा।
viii.इस योजना के अंतर्गत दुग्ध सहकारी संस्थाओं को 8004 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता ऋण के रूप मे 6.5% वार्षिक ब्याज दर पर प्रदान की जाएगी जिसकी भरपाई 10 वर्ष की अवधि में करनी होगी।
ix.विश्व बैंक पोषित राष्ट्रीय डेयरी प्लान चरण- 1 योजना का कार्यान्वयन भी एनडीडीबी (राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड) द्वारा राज्य सरकार के माध्यम से संबंधित राज्य के सहकारी दुग्ध संगठनों/दुग्ध फेडरेशन द्वारा किया जा रहा है।
x.सरकार ने इस योजना का क्रियान्वयन 14 राज्यों से बढ़ाकर 18 राज्यों में कर दिया गया है।
xi.उधर, राष्ट्रीय डेयरी विकास कार्यक्रम (एनपीडीडी) का कार्यान्वयन राज्य सरकार के माध्यम से संबंधित राज्य के सहकारी दुग्ध संगठनों/दुग्ध फेडरेशन द्वारा किया जा रहा है।
xii.इस योजना के अंतर्गत 2014-18 के दौरान 560.46 करोड़ रुपये की सहायता सहकारी दुग्ध समितियों के विकास, उनके दुग्ध उत्पादक सदस्यों की संख्या बढ़ाने हेतु प्रोत्साहन एवं प्रसंस्करण एवं प्रशीतन क्षमता बढ़ाने के लिए दिए गए।
xiii.उत्‍पादन बढ़ाने के लिए राष्ट्रीय गोकुल मिशन के अंतर्गत लिंग पृथक्कृत वीर्य के उत्पादन हेतु 10 वीर्य केन्द्रों को चिन्हित किया जा चुका है।

दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग ने ‘जिला दिव्यांग पुनर्वास केंद्रों का राष्ट्रीय सम्मेलन’ आयोजित किया:
i.14 सितंबर, 2018 को, सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता मंत्रालय में दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग ने दिल्ली के डॉ अंबेडकर अंतर्राष्ट्रीय केंद्र में ‘जिला दिव्यांग पुनर्वास केंद्रों का राष्ट्रीय सम्मेलन’ आयोजित किया।
ii.इस अवसर पर सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गहलौत मुख्य अतिथि थे।
iii.सम्मेलन का उद्देश्य जिला दिव्यांग पुनर्वास केंद्रों के संदेशों को आगे बढ़ाना है जो दिव्यांगजनों की भलाई में अहम किरदार निभाते हैं।
iv.जिला दिव्यांग पुनर्वास केंद्र दिव्यांगजनों को समग्र सेवाएं उपलब्ध कराता है और जिला स्तर पर जागरूकता सृजन, पुनर्वास और पुनर्वास पेशेवरों को प्रशिक्षण के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर एवं क्षमता निर्माण का काम भी करता है।
v.310 जिलों को चिन्हित किया गया है और 263 जिला दिव्यांग पुनर्वास केंद्र स्थापित किए गए हैं।
vi.310 जिलों को चिन्हित किया गया है और 263 जिला दिव्यांग पुनर्वास केंद्र स्थापित किए गए हैं।

328 एफडीसी (फिक्‍स्‍ड डोज कांबिनेशन) दवाओं के उत्‍पादन, बिक्री और वितरण पर प्रतिबंध:
i.7 सितंबर 2018 को, स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय ने तत्‍काल प्रभाव से मानव उपयोग के उद्देश्‍य से 328 एफडीसी (फिक्‍स्‍ड डोज कांबिनेशन या निश्चित खुराक संयोजन) के उत्‍पादन, बिक्री अथवा वितरण पर प्रतिबंध लगा दिया है।
ii.मंत्रालय ने कुछ शर्तों के साथ 6 एफडीसी के उत्‍पादन, बिक्री अथवा वितरण को भी प्रतिबंधित कर दिया है।
iii.इससे पहले केंद्र सरकार ने भारत के राजपत्र में 10 मार्च, 2016 को प्रकाशित अपनी अधिसूचनाओं के जरिए औषधि और प्रसाधन सामग्री अधिनियम, 1940 की धारा 26ए के तहत मानव उपयोग के उद्देश्‍य से 344 एफडीसी के उत्‍पादन, बिक्री और वितरण पर प्रतिबंध लगा दिया था।
iv.भारत के उच्‍चतम न्‍यायालय द्वारा 15 दिसम्‍बर, 2017 को सुनाए गये अपने फैसले में दिये गये निर्देशों का पालन करते हुए इस मसले पर दवा तकनीकी सलाहकार बोर्ड द्वारा गौर किया गया, जिसका गठन औषधि और प्रसाधन सामग्री अधिनियम, 1940 की धारा 5 के तहत हुआ था।
v.स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्रालय ने औषधि और प्रसाधन सामग्री अधिनियम, 1940 की धारा 26ए के तहत मिले अधिकारों का उपयोग करते हुए 7 सितम्‍बर, 2018 को अपनी गजट (राजपत्र) अधिसूचनाओं के जरिए मानव उपयोग के उद्देश्‍य से 328 एफडीसी के उत्‍पादन, बिक्री अथवा वितरण पर प्रतिबंध लगा दिया है।

स्वदेश दर्शन अभियान के अन्तर्गत छत्तीसगढ़ में पहले आदिवासी परिपथ का उद्घाटन किया गया:First Tribal Circuit Project under Swadesh Darshan Scheme inaugurated by Tourism minister in Chhattisgarhi.14 सितंबर, 2018 को केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री के जे अल्फोन्स ने छत्तीसगढ़ के धमतारी जिले में देश के पहले आदिवासी पर्यटन परिपथ का उद्घाटन किया।
ii.स्वदेश दर्शन योजना के तहत यह दूसरी परियोजना है जिसका उद्घाटन देश में किया जा रहा है।
iii.इस परियोजना को विकसित करने के लिए केंद्र सरकार ने घरेलू और विदेशी पर्यटकों के लिए आदिवासी संस्कृति को उजागर करने के लिए 99.21 करोड़ आवंटित किए थे।
iv.इसका उद्देश्य पर्यटकों के लिए राज्य की समृद्ध और विविध जनजातीय संस्कृति और परंपराओं को प्रदर्शित करना है।
v.यह परियोजना स्वदेश दर्शन योजना के तहत विकसित की जाएगी।
vi.इसे छत्तीसगढ़ पर्यटन बोर्ड द्वारा विकसित किया जाएगा।
vii.इस योजना के दायरे में छत्तीसगढ़ के जशपुर, कुंकुरी, माइनपत, कमलेशपुर, महेशपुर, कुरदार, सरोदादादर, गंगरेल, कोंडागांव, नाथिया नवागांव, जगदलपुर, चित्रकूट और तीर्थगढ़ शहर आते हैं।
viii.आदिवासी परिपथ विषय के तहत मंत्रालय ने नगालैण्ड, तेलंगाना और छत्तीसगढ़ में 381.47 करोड़ रु. की लागत से 4 योजनाओं को मंजूरी दी है।
स्वदेश दर्शन के बारे में:
स्वदेश दर्शन पर्यटन मंत्रालय की सबसे अहम परियोजनाओं में से एक है जिसके तहत एक विषय पर आधारित पर्यटन परिपथों का एक योजनाबद्ध ढंग से विकास किया जाना है। इस योजना को 2014-15 में आरंभ किया गया था और अभी तक मंत्रालय ने 31 राज्यों एवं संघीय क्षेत्रों में 5997.47 करोड़ रु. की लागत की 74 परियोजनाओं को मंजूरी दी है।
छत्तीसगढ़:
♦ मुख्यमंत्री: रमन सिंह।
♦ गवर्नर: आनंदीबेन पटेल।

ई-रायथू: आंध्र प्रदेश और मास्टरकार्ड द्वारा शुरू किया गया आंध्र किसानों के लिए डिजिटल मंचe-Rythu : digital platform for Andhra farmers launched by Andhra Pradesh & Mastercardi.14 सितंबर, 2018 को, आंध्र प्रदेश सरकार ने मास्टरकार्ड के साथ एक समझौता ज्ञापन में प्रवेश किया और एक मोबाइल प्लेटफॉर्म लॉन्च किया, ई-रायथू (तेलुगू में ई-किसान) जिससे छोटे पैमाने पर किसान उचित मूल्य पर अपने उत्पाद का विपणन कर सकें।
ii.इसका उद्देश्य कृषि बाजारों, भुगतान और कृषि उत्पादों के लिए सुरक्षित तरीके को डिजिटाइज करना है।
iii.वित्तीय समावेशन के लिए मास्टरकार्ड लैब्स द्वारा मंच विकसित किया गया है।
iv.मंच एक डिजिटल लेनदेन रिकॉर्ड भी रखता है, जो किसानों को बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों से औपचारिक क्रेडिट प्राप्त करने की अनुमति देता है।
v.तेलुगू संचार का माध्यम होगा।
vi.सरकार ई-एनएएम (राष्ट्रीय कृषि बाजार) जैसे मौजूदा प्लेटफार्मों के साथ ई-रायथू को एकीकृत करना चाहती है।
आंध्र प्रदेश:
♦ मुख्यमंत्री: एन चंद्रबाबू नायडू।
♦ गवर्नर: ई.एस.एल.नरसिम्हा।
♦ राजधानी: अमरावती।

तमिलनाडु और केंद्र सरकार ने राज्य संचालित सीएमसीएचआईएस के साथ आयुषमान-भारत को लागू करने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए:
i.14 सितंबर, 2018 को, तमिलनाडु सरकार ने राज्य के मुख्यमंत्री की व्यापक स्वास्थ्य बीमा योजना (सीएमसीआईएसआई) के साथ आयुषमान भारत को लागू करने के लिए केंद्र सरकार के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।
ii.इस संगठन से तमिलनाडु में 77 लाख गरीब और कमजोर परिवारों को फायदा होगा।
iii.इसके अतिरिक्त, राज्य स्वास्थ्य योजना के तहत कवर किए गए सभी लोगों के लिए बीमा लाभ राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना के अनुसार 5 लाख रुपये कर दिया जाएगा।
iv.इसमें राज्य संचालित बीमा योजना के अंतर्गत 25 लाख रुपये तक की सभी 8 उच्च अंत प्रक्रियाएं भी शामिल होंगी।
मुख्यमंत्री की व्यापक स्वास्थ्य बीमा योजना (सीएमसीआईएसआई) के बारे में:
तमिलनाडु की स्वास्थ्य बीमा योजना में 1.57 करोड़ परिवार शामिल हैं और 1,027 प्रक्रियाओं के लिए प्रति वर्ष 1 लाख रुपये और 154 निर्दिष्ट चिकित्सा प्रक्रियाओं के लिए प्रति वर्ष 2 लाख रुपये का कवरेज प्रदान करती है। इसमें आठ उच्च अंत प्रक्रियाओं के इलाज के लिए एक कॉर्पस भी है।
आयुषमान भारत के बारे में – राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण मिशन (एबी-एनएचपीएम):
आयुषमान भारत – राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण मिशन की एक योजना है जिसकी केन्द्रीय वित्त और कॉर्पोरेट मामलों के मंत्री श्री अरुण जेटली ने 2018-19 के आम बजट पेश करते हुए घोषणा की थी जिसमें 10 करोड़ से अधिक गरीब और कमजोर परिवार शामिल होंगे। इस योजना के तहत 1.5 लाख स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र स्थापित करने के लिए 1200 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं। 24 नए सरकारी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल और प्रत्येक 3 संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों के लिए कम से कम 1 मेडिकल कॉलेज और देश के प्रत्येक राज्य में कम से कम 1 सरकारी मेडिकल कॉलेज।

बिहार कैबिनेट ने अन्य प्रस्तावों के बीच 1 लाख अंतरिम मुआवजा देने की योजना को मंजूरी दी:
i.14 सितंबर, 2018 को, बिहार सरकार ने भीड़ हिंसा के मामलों के त्वरित परीक्षण के अलावा भीड़ हिंसा से प्रभावित लोगों को 1 लाख रुपये का अंतरिम मुआवजा प्रदान करने के लिए एक योजना को मंजूरी दी है।
ii.यह घटना के एक महीने के भीतर भीड़ हिंसा के पीड़ितों को एक लाख रुपये की अंतरिम सहायता प्रदान करती है।
iii.6 महीने के भीतर पूरा करने के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट में ऐसे मामलों की सुनवाई की जाएगी।
अन्य समाचार:
i.इसने ग्राम सड़कों के निर्माण के उद्देश्य से ब्रिक्स न्यू डेवलपमेंट बैंक के 350 मिलियन अमेरिकी डॉलर के लिए ऋण समझौते को भी मंजूरी दे दी।
ii.मल्टी-ट्रेंच वित्तीय सुविधा के तहत धन उधार लिया जाएगा और 45 मिलियन अमरीकी डालर का ऋण ट्रेंच के लिए लिया जाएगा।
बिहार में यूनेस्को विरासत स्थल:
♦ नालंदा विश्वविद्यालय, बोध गया।

नुखाई: पश्चिमी ओडिशा में फसल कटाई का उत्सव मनाया गया
i.14 सितंबर, 2018 को, पश्चिमी ओडिशा में फसल कटाई का त्यौहार नुखाई मनाया गया था।
ii.परंपरा के अनुसार:
-इस सीजन के नए धान की फसल के बाद, चावल को संबलपुर में देवी समलेस्वरी को पेश किया गया जाता है।
-पश्चिमी ओडिशा के लोगों ने इस भेंट के बाद परिवार और दोस्तों को एक साथ त्यौहार मनाते है।
ओडिशा:
♦ मुख्यमंत्री: नवीन पटनायक
♦ गवर्नर: प्रो.गणेश लाल।
♦ झील: चिलिका झील, कंजिया झील, अंशुपा झील।

सिद्धी: डेस्टा ग्लोबल द्वारा विकसित की गई एक ऐप जो कि किसानों, डीलरों को एक साथ लाती है
i.14 सितंबर, 2018 को, सिद्धी ऐप कृषि बाजार के विकास के लिए 40,000 किसानों और खरीदारों को एक छत के नीचे ले कर आई है।
ii.यह मुंबई स्थित कृषि ई-कॉमर्स कंपनी डेस्टा ग्लोबल द्वारा विकसित की गई है और 1 जुलाई, 2018 में लॉन्च की गई।
iii.ऐप अंग्रेजी और मराठी में उपलब्ध है।
iv.ऐप द्वारा प्रदान किए गए ऑफ़र और सेवाएं:
-बीज, मशीनरी इत्यादि जैसे कच्चे माल की बिक्री और खरीद,
-किसानों को रियायती दर पर दी जाने वाली सामग्री,
-किसानों द्वारा प्रत्येक खरीद के बाद पुरस्कार वफादारी अंक,
-खेती से संबंधित सुझाव और जानकारी प्रदान की जाती है जिसे किसानों द्वारा पसंद और साझा किया जा सकता है,
-खेती समुदाय जो प्रगतिशील खेती तकनीक साझा करता है।
महाराष्ट्र:
♦ राजधानी: मुंबई।
♦ मुख्यमंत्री: देवेंद्र फडणवीस।
♦ गवर्नर: सी विद्यासागर राव।

अंतरराष्ट्रीय समाचार

3 दिवसीय चौथा पूर्वी आर्थिक मंच रूस के व्लादिवोस्तोक में आयोजित किया गया:3 day 4th Eastern Economic Forum was held in Vladivostok, Russiai.11-13 सितंबर, 2018 को, 3 दिवसीय चौथा पूर्वी आर्थिक मंच रूस के व्लादिवोस्तोक में आयोजित किया गया था।
ii.इसका उद्देश्य रसद, ऊर्जा, प्राकृतिक संसाधनों में सुदूर पूर्व का विकास करना है।
iii.इसका विषय ‘सुदूर पूर्व: संभावनाओं की सीमा का विस्तार’ था।
iv.ईईएफ 2018 का आयोजन रोस्कोंग्रेस फाउंडेशन द्वारा किया गया था।
v.चार मुख्य विषय ब्लॉक थे:
-निवेशकों का समर्थन करने के लिए उपकरण: अगले चरण;
-सुदूर पूर्व में उद्योग प्राथमिकता;
-वैश्विक सुदूर पूर्व: सहयोग के लिए अंतर्राष्ट्रीय परियोजनाएं;
-रहने की स्थितियों में सुधार।
vi.पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना, कोरिया गणराज्य, मंगोलिया, संयुक्त राज्य अमेरिका और ब्रिटेन और उत्तरी कोरिया समेत 60 विदेशी देशों के 6,002 प्रतिनिधियों और 1,357 मीडिया प्रतिनिधियों ने इसमें भाग लिया था।
रूस:
♦ राजधानी: मॉस्को।
♦ मुद्रा: रूसी रूबल।

पुरस्कार और सम्मान

बच्चों के लेखक रामेंद्र कुमार को ग्रीस के एथेंस में 36 वे इंटरनेशनल बोर्ड ऑन बुक्स फॉर यंग पीपल (आईबीबीवाई) कांग्रेस में सम्मानित किया गया:
i.लोकप्रिय बच्चों के लेखक रामेंद्र कुमार को 30 अगस्त से 1 सितंबर 2018 तक ग्रीस के एथेंस में 36 वे इंटरनेशनल बोर्ड ऑन बुक्स फॉर यंग पीपल (आईबीबीवाई) कांग्रेस में सम्मानित किया गया था।
ii.70 से अधिक देशों के 450 प्रतिनिधियों ने कांग्रेस में हिस्सा लिया। इसे बच्चों के साहित्य के लिए सबसे बड़ा द्विवार्षिक वैश्विक कार्यक्रम माना जाता है।
iii.इस सम्मान को प्राप्त करने वाले रामेंद्र कुमार एकमात्र भारतीय लेखक थे। उन्होंने कांग्रेस में 2 सत्र की अध्यक्षता की और ‘द ब्रेव न्यू वर्ल्ड ऑफ इंडियन चिल्ड्रन लिटरेचर’ पर एक पेपर प्रस्तुत किया।
iv.वह राउरकेला स्टील प्लांट (आरएसपी) में संचार के प्रमुख हैं। उन्होंने 33 किताबें लिखी हैं।
v.उनके कार्यों का अनुवाद 28 भाषाओं में किया गया है। उन्होंने चिल्ड्रन बुक ट्रस्ट (सीबीटी) द्वारा 31 पुरस्कार जीते हैं।
इंटरनेशनल बोर्ड ऑन बुक्स फॉर यंग पीपल (आईबीबीवाई) के बारे में:
♦ प्रकार – गैर-लाभकारी संगठन जो उन लोगों के अंतर्राष्ट्रीय नेटवर्क का प्रतिनिधित्व करता है जो पुस्तकों और बच्चों को एक साथ लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं
♦ अध्यक्ष – श्री वाली डी डोनकर
♦ स्थान – बासेल, स्विट्ज़रलैंड

2016 के लिए शिल्प गुरु और राष्ट्रीय पुरस्कार वस्त्र मंत्री द्वारा मास्टर क्राफ्ट व्यक्तियों को प्रस्तुत किया गया:
i.14 सितंबर, 2018 को केंद्रीय वस्त्र मंत्री श्रीमती जुबिन ईरानी ने रायपुर, छत्तीसगढ़ में आयोजित एक समारोह में वर्ष 2016 के लिए ‘शिल्प गुरु’ और राष्ट्रीय पुरस्कार प्रस्तुत किए।
ii.8 ‘शिल्प गुरु’ और 25 राष्ट्रीय पुरस्कार प्रस्तुत किए गए।
हस्तशिल्प क्षेत्र की उपलब्धियां:
i.2014 से, भारत से 1 लाख 26 हजार करोड़ रूपये की हस्तशिल्प वस्तुओं का निर्यात किया गया है।
ii.2016 से लगभग 17 लाख शिल्प व्यक्तियों को पहचान पत्र प्रदान किए गए है।
पृष्ठभूमि:
भारत में हस्तशिल्प क्षेत्र में शिल्प गुरु ‘सर्वोच्च पुरस्कार’ है।
कपड़ा मंत्रालय:
♦ केन्द्रीय मंत्री: श्रीमती स्मृति जुबिन ईरानी।
♦ राज्य मंत्री: श्री अजय टम्टा।

राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में योगदान के लिए माध्यमिक इस्पात क्षेत्र पुरस्कार दिए गए:
i.13 सितंबर 2018 को, इस्पात मंत्रालय ने पहली बार माध्यमिक इस्पात क्षेत्र के पुरस्कारों को 26 मिनी स्टील कंपनियों को नई दिल्ली में प्रदान किया।
ii.मिनी स्टील कंपनियों को राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में उनके योगदान के लिए सम्मानित किया गया।
iii.पुरस्कार केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बिरेंदर सिंह ने प्रस्तुत किए।
iv.12 कंपनियों को गोल्ड सर्टिफिकेट दिए गए थे और 14 से 17 को 2016-17 के दौरान उनके प्रदर्शन के लिए सिल्वर सर्टिफिकेट दिए गए थे।
v.इस्पात भारतीय अर्थव्यवस्था के मुख्य क्षेत्रों में से एक है। भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा इस्पात उत्पादक देश है। इस्पात भारत के सकल घरेलू उत्पाद में 2% से अधिक योगदान देता है।
इस्पात मंत्रालय के बारे में:
♦ केंद्रीय इस्पात मंत्री – चौधरी बिरेंदर सिंह
♦ इस्पात राज्य मंत्री – विष्णु देव साईं
♦ सचिव – बिनॉय कुमार

निधन

स्वतंत्रता सेनानी गौरा चंद्र महापात्रा अब नहीं रहे:
i.11 सितंबर 2018 को, स्वतंत्रता सेनानी गौरा चंद्र महापात्रा का ओडिशा के भद्रक जिले के एक अस्पताल में वृद्धावस्था से संबंधित बीमारियों के बाद निधन हो गया।
ii.गौरा चंद्र महापात्रा 104 वर्ष के थे। वह राष्ट्रवादी कवि कांता काबी लक्ष्मीकांत महापात्रा के पुत्र थे।
iii.उन्होंने भारत छोड़ो आंदोलन में भाग लिया था और बाद में शिक्षाविदों में काम किया था। उन्होंने सामाजिक उत्थान के लिए काम किया।
iv.1942 में भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान वह बेरहमपुर सर्कल जेल में सबसे कम उम्र के कैदी थे।

महत्वपूर्ण दिन

हिंदी दिवस 14 सितंबर को भारत भर में मनाया गया:Hindi Divas celebrated across India on September 14i.14 सितंबर 2018 को, भारत भर में हिंदी दिवस मनाया गया था।
ii.14 सितंबर 1949 को, संविधान सभा ने देवनागरी में भारत की आधिकारिक भाषा के रूप में हिंदी को अपनाया था।
iii.नई दिल्ली में हिंदी दिवस के अवसर पर एक समारोह आयोजित किया गया, जिसमें उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने हिंदी को बढ़ावा देने में उनके उल्लेखनीय प्रदर्शन के लिए विभिन्न विभागों, मंत्रालयों और कार्यालयों के प्रमुखों को राजभाषा पुरस्कार प्रस्तुत किए। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने इस कार्यक्रम की अध्यक्षता की।