Current Affairs PDF Sales

भारत सरकार ने स्वतंत्रता दिवस के 75 वर्ष को मनाने के लिए प्रधानमंत्री द्वारा एक राष्ट्रीय समिति का गठन किया

AffairsCloud YouTube Channel - Click Here

AffairsCloud APP Click Here

Govt constitutes National Committee headed by PMभारत सरकार ने 15 अगस्त 2022 को आने वाले स्वतंत्रता दिवस के 75 वर्ष को मनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में एक राष्ट्रीय समिति का गठन किया। इस दिन को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आज़ादी का अमृत महोत्सव के रूप में मनाया जाएगा।

भारत ने 15 अगस्त 1947 को पहला स्वतंत्रता दिवस मनाया।

सदस्य:

i.इस समिति में 259 सदस्य हैं।

ii.सदस्यों में शामिल हैं,

  • पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल, भारत के मुख्य न्यायाधीश S A बोबडे, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, 28 मुख्यमंत्री, वरिष्ठ BJP नेता लालकृष्ण आडवाणी, कई प्रसिद्ध केंद्रीय मंत्री और राज्यपाल
  • विपक्षी नेता: सोनिया गांधी (कांग्रेस), सीताराम येचुरी (कम्युनिस्ट), शरद पवार (राष्ट्रवादी कांग्रेस), ममता बनर्जी (अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस), मुलायम सिंह यादव और मायावती (उत्तर प्रदेश के पूर्व CM)
  • कलाकार: लता मंगेशकर, A R रहमान
  • नोबेल पुरस्कार विजेता: अमर्त्य सेन
  • खेल व्यक्तित्व: सुनील गावस्कर, मैरी कॉम, अभिनव बिंद्रा, पुलेला गोपीचंद, महेंद्र सिंह धोनी, PT उषा और प्रकाश पादुकोण।
  • आध्यात्मिक नेता: बाबा रामदेव, श्री श्री रविशंकर, मौलाना वहीदुद्दीन खान

समिति के सभी सदस्यों की सूची के लिए यहां क्लिक करें

स्वतंत्रता दिवस के 75 वर्षों का उत्सव:

i.आजादी के 75 साल के उत्सव को 75वें स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त 2022 के 75 सप्ताह पहले 12 मार्च 2021 को शुरू किया जाएगा।

ii.इस दिन अहमदाबाद में साबरमती आश्रम से दांडी तक महात्मा गांधी के नमक सत्याग्रह की 91वीं वर्षगांठ भी है।

iii.उद्घाटन कार्यक्रम की अध्यक्षता PM मोदी करेंगे और राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (UT) में उसी दिन पूरे भारत में 74 स्थानों पर यह कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

iv.संस्कृति मंत्रालय इस अवसर पर एक विशेष कार्यक्रम आयोजित करेगा।

v.PM मोदी साबरमती से दांडी स्मारक तक एक पदयात्रा को भी हरी झंडी दिखाएंगे, जिसका समापन 5 अप्रैल 2022 को होगा।

अन्य समितियाँ:

i.गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में राष्ट्रीय कार्यान्वयन समिति का गठन किया गया है।

ii.समिति भारत सरकार के मंत्रालयों द्वारा की जाने वाली नीति और कार्यक्रमों का मार्गदर्शन करेगी।

iii.सचिवों की एक समिति भी इसके लिए गठित की गई है।