Current Affairs PDF

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने NEP 2020 की पहली वर्षगांठ को चिह्नित करने के लिए नई पहल की शुरुआत की

AffairsCloud YouTube Channel - Click Here

AffairsCloud APP Click Here

1st anniversary of NEP 2020प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने नेशनल एजुकेशन पॉलिसी 2020 (NEP 2020) की पहली वर्षगांठ को चिह्नित करने के लिए कई नई पहल की शुरुआत की, जिसे 29 जुलाई, 2020 को लॉन्च किया गया था।

i.NEP 2020 21वीं सदी की पहली शिक्षा नीति है, यह नेशनल पॉलिसी ऑन एजुकेशन, 1986 (NPE, 1986) की जगह लेती है।

ii.NEP 2020 के 5 स्तंभ पहुंच, इक्विटी, गुणवत्ता, वहनीयता और जवाबदेही हैं।

iii.इसका उद्देश्य शिक्षा में भारत के निवेश को कुल सकल घरेलू उत्पाद का 6% तक बढ़ाना है।

iv.नई शुरू की गई पहल हैं

  • नेशनल डिजिटल एजुकेशन आर्किटेक्चर(NDEAR) & नेशनल एजुकेशन टेक्नोलॉजी(NETF) – भारत को एक डिजिटल और तकनीकी ढांचा प्रदान करना।
  • विद्या प्रवेश – ग्रेड 1 के छात्रों के लिए तीन महीने का प्ले-आधारित स्कूल तैयारी मॉड्यूल। कार्यक्रम के तहत दूरदराज के इलाकों के बच्चों और अभिभावकों को प्ले स्कूल की सुविधा मिलेगी।
  • माध्यमिक स्तर पर एक विषय के रूप में भारतीय सांकेतिक भाषा का शुभारंभ।
  • NISHTHA 2.0 (नेशनल इनिशिएटिव फॉर स्कूल हेड्स एंड टीचर्स होलिस्टिक एडवांसमेंट)- NCERT द्वारा तैयार शिक्षक प्रशिक्षण के लिए एक एकीकृत कार्यक्रम।
  • SAFAL (स्ट्रक्चर्ड असेसमेंट फॉर अनलीजिंग लर्निंग लेवल्स)- CBSE स्कूलों में ग्रेड 3, 5 और 8 के लिए एक योग्यता आधारित मूल्यांकन ढांचा
  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) को समर्पित एक नई वेबसाइट।
  • एकेडमिक बैंक ऑफ क्रेडिट सिस्टम भी लॉन्च किया गया।
  • क्षेत्रीय भाषाओं में प्रथम वर्ष के इंजीनियरिंग कार्यक्रमों का शुभारंभ और उच्च शिक्षा के अंतर्राष्ट्रीयकरण के लिए दिशानिर्देश।

एकेडमिक बैंक ऑफ क्रेडिट सिस्टम

एकेडमिक बैंक ऑफ क्रेडिट एक डिजिटल बैंक के रूप में कार्य करेगा जो किसी भी पाठ्यक्रम में छात्र द्वारा अर्जित क्रेडिट रखता है।

  • यह क्रेडिट संचय, क्रेडिट ट्रांसफर और क्रेडिट रिडेम्पशन की औपचारिक प्रणाली बनाकर एकेडमिक गतिशीलता को बढ़ावा देगा।
  • क्रेडिट सिस्टम उच्च शिक्षा में छात्रों के लिए मल्टीपल एंट्री और मल्टीपल एक्जिट विकल्प भी सक्षम करेगा।

CBSE की SAFAL पहल

स्ट्रक्चर असेसमेंट फॉर अनलेसिंग लर्निंग(SAFAL) सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) द्वारा ग्रेड 3,5 और 8 के लिए शुरू किया गया एक योग्यता-आधारित मूल्यांकन कार्यक्रम है।

  • यह छात्रों के बीच मूलभूत कौशल और बुनियादी सीखने के परिणामों की प्रगति का मूल्यांकन करेगा। इसका उद्देश्य रॉट मेमोराइजेशन को संबोधित करना है।
  • SAFAL स्कूलों को विकासात्मक प्रतिक्रिया प्रदान करेगा और इसका उपयोग उच्च ग्रेड में पदोन्नति सहित किसी अन्य उद्देश्य के लिए नहीं किया जाएगा।
  • लैंग्वेज, मैथमेटिक्स, एनवायर्नमेंटल स्टडीज (EVS), विज्ञान के प्रमुख पाठ्यक्रम क्षेत्रों में शैक्षणिक वर्ष 2021-22 के दौरान CBSE स्कूलों में प्रायोगिक आधार पर मूल्यांकन आयोजित किया जाएगा।

नेशनल एजुकेशन टेक्नोलॉजी(NETF)

NETF राज्य/केंद्र सरकारों, शैक्षणिक संस्थानों को शामिल करने, परिनियोजन और प्रौद्योगिकी के उपयोग पर निर्णय लेने में सहायता करेगा।

  • यह हितधारकों के साथ नवीनतम ज्ञान, अनुसंधान और सर्वोत्तम अभ्यास प्रदान करेगा।

क्षेत्रीय भाषाओं के लिए AICTE टूल

NEP 2020 क्षेत्रीय भाषाओं के माध्यम से शिक्षा के महत्व पर जोर देता है।

नई नीति के तहत, हायर एजुकेशन इंस्टीटूशन्स (HEI) क्षेत्रीय भाषाओं को शिक्षा के माध्यम के रूप में इस्तेमाल करेंगे या द्विभाषी रूप से कार्यक्रम पेश करेंगे।

  • यह शिक्षा तक पहुंच और ग्रॉस एनरोलमेंट रेश्यो (GER) को भी बढ़ाएगा।
  • AICTE (आल इंडिया कौंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन) ने क्षेत्रीय भाषाओं में पाठ्यक्रमों के स्वचालित अनुवाद के लिए AI-आधारित उपकरण विकसित किया है।
  • AICTE से मान्यता प्राप्त 13 तकनीकी संस्थान प्रायोगिक आधार पर 2021-22 से क्षेत्रीय भाषा में तकनीकी शिक्षा देंगे।

NISHTHA 2.0 

NISHTHA 2.0 NCERT द्वारा डिज़ाइन किया गया एक शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम है। इसका उद्देश्य शिक्षण की गुणवत्ता में सुधार करके सीखने के परिणामों में सुधार करना है।

  • प्राथमिक शिक्षकों और प्रधानाध्यापकों को DIKSHA प्लेटफॉर्म (डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर फॉर नॉलेज शेयरिंग) पर ऑनलाइन मोड में प्रशिक्षित किया जाएगा।
  • 40 लाख से अधिक प्री-प्राइमरी, प्राइमरी और सेकेंडरी स्तर के शिक्षकों को कवर किया जाएगा।

पहल विवरण
नेशनल डिजिटल एजुकेशन आर्किटेक्चर(NDEAR) & नेशनल एजुकेशन टेक्नोलॉजी(NETF) भारत को एक डिजिटल और तकनीकी ढांचा प्रदान करना।
एकेडमिक बैंक ऑफ क्रेडिट सिस्टम एक डिजिटल बैंक जो किसी भी पाठ्यक्रम में एक छात्र द्वारा अर्जित क्रेडिट रखता है। यह अकादमिक गतिशीलता को बढ़ावा देगा और छात्रों के लिए एकाधिक प्रवेश और एकाधिक निकास विकल्पों को सक्षम करेगा।
SAFAL(स्ट्रक्चर असेसमेंट फॉर अनलेसिंग लर्निंग) बुनियादी कौशल और बुनियादी सीखने के परिणामों की प्रगति का आकलन करने के लिए ग्रेड 3, 5 और 8 के लिए एक योग्यता-आधारित मूल्यांकन कार्यक्रम।
विद्या प्रवेश ग्रेड 1 के छात्रों के लिए तीन महीने का प्ले-आधारित स्कूल तैयारी मॉड्यूल। दूरदराज के इलाकों के बच्चों और अभिभावकों की पहुंच प्ले स्कूल तक होगी।

मिनिस्ट्री ऑफ़ एजुकेशन (MoE) के बारे में

केंद्रीय मंत्री – धर्मेंद्र प्रधान (राज्य सभा – मध्य प्रदेश)
राज्य मंत्री – अन्नपूर्णा देवी (कोडरमा, झारखंड), डॉ सुभास सरकार (बांकुरा, पश्चिम बंगाल), डॉ राजकुमार रंजन सिंह (आंतरिक मणिपुर, मणिपुर)