Current Affairs APP

TRIFED ने MFP और वन धन योजना के लिए MSP लागू करने के लिए दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव प्रशासन के साथ MoU पर हस्ताक्षर किया

5 मार्च 2021 को, जनजातीय मामलों के मंत्रालय (MoTA) के तहत भारत के आदिवासी सहकारी विपणन विकास महासंघ (TRIFED) ने दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव के प्रशासन के साथ लघु वनोपज (MFP) योजना और वन धन योजना (VDY) के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) के कार्यान्वयन के लिए एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किए हैं। 

कार्यान्वयन एजेंसी:

दादर नगर हवेली और दमन और दीव अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति अन्य पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक वित्तीय विकास निगम।

MoU की विशेषताएं:

i.इस समझौता ज्ञापन के तहत, MSP के माध्यम से MFP के लिए तंत्र और MFP के लिए मूल्य श्रृंखला के विकास को केंद्र शासित प्रदेश (UT) में लागू किया जाएगा।

ii.UT में 1 वन धन विकास केंद्र स्थापित करने की योजना है।

MFP के लिए MSP के बारे में:

MFP के लिए MSP MoTA की एक प्रमुख योजना है।

लक्ष्य:

वन उत्पादों के आदिवासी समूहों को पारिश्रमिक और उचित मूल्य प्रदान करना।

ध्यान देने योग्य बिंदु:

इस योजना ने आदिवासी अर्थव्यवस्था में 3000 करोड़ रु. लगाया है।

वन धन योजना (VDI) के बारे में:

वन धन जनजातियों के लिए स्थायी आजीविका का समर्थन करने के लिए वन धन केंद्रों की स्थापना करके MFP को महत्व देने, ब्रांडिंग करने और विपणन करने के लिए वन धन योजना इस कार्यक्रम का एक अव्यय है।

हाल के संबंधित समाचार:

31 दिसंबर, 2020 को TRIFED (ट्राइबल कोऑपरेटिव मार्केटिंग डेवलपमेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया) ने जनजातीय मामलों के मंत्रालय के वाणिज्यिक शाखा ने आर्थिक उपक्रम के लिए दीन दयाल अंत्योदय-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (DAY-NRLM) के साथ देश की जनजातीय आबादी और महिला स्वयं सहायता समूहों (SHG) की आजीविका को बढ़ावा देने के लिए एक सहायता कार्यक्रम के लिए एक समझौता ज्ञापन (MoU) पर हस्ताक्षर किया है।

भारतीय आदिवासी सहकारी विपणन विकास महासंघ (TRIFED) के बारे में:

प्रबंध निदेशक- प्रवीर कृष्ण
स्थापना- 1987 में
मुख्यालय- नई दिल्ली





error: Alert: Content is protected !!