MoHI&PE संशोधित FAME इंडिया चरण II योजना: EESL के माध्यम से एकत्रीकरण

मिनिस्ट्री ऑफ़ हेवी इंडस्ट्रीज एंड पब्लिक इंटरप्राइजेज(MoHI&PE) ने ‘फास्टर एडॉप्शन एंड मैन्युफैक्चरिंग ऑफ हाइब्रिड एंड इलेक्ट्रिक व्हीकल्स इन इंडिया फेज II’ (FAME इंडिया फेज II) योजना में आंशिक संशोधन किया है, जो 1 अप्रैल 2019 से शुरू हुई थी। FAME योजना को डिपार्टमेंट ऑफ़ हेवी इंडस्ट्रीज(DHI) द्वारा प्रशासित किया गया था।

  • MoHI&PE ने इलेक्ट्रिक थ्री-व्हीलर्स और इलेक्ट्रिक बसों के घटक को राज्य द्वारा संचालित एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड(EESL) के माध्यम से एकत्र करने का निर्णय लिया है, ताकि इलेक्ट्रिक थ्री व्हीलर्स की लागत ICE-3 व्हीलर्स की लागत को कम किया जा सके।
  • इलेक्ट्रिक बसों के लिए, EESL दिल्ली, मुंबई, बैंगलोर, हैदराबाद, अहमदाबाद, कोलकाता, चेन्नई, सूरत और पुणे जैसे 40 लाख से अधिक आबादी वाले 9 शहरों में मांग पैदा करेगा।

FAME इंडिया फेज II का विस्तार:

  • FAME का दूसरा चरण 2019 में शुरू हुआ था जिसे सरकार ने 31 मार्च 2022 तक 3 साल की अवधि के लिए 10,000 करोड़ रुपये के परिव्यय के साथ अनुमोदित किया था।
  • मार्च 2021 तक 10,000 करोड़ रुपये (बजट आवंटित) में से केवल 5 प्रतिशत या 492 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं, इसलिए इस योजना को 2024 तक बढ़ाए जाने की संभावना है।
  • दूसरा चरण सार्वजनिक और साझा परिवहन के विद्युतीकरण का समर्थन करना और चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर बनाने में मदद करना है।

FAME इंडिया फेज I के बारे में

i.FAME इंडिया(फास्टर एडॉप्शन एंड मैन्युफैक्चरिंग ऑफ़ (हाइब्रिड &) इलेक्ट्रिक व्हीकल्स इन इंडिया) परिवहन में हाइब्रिड/इलेक्ट्रिक तकनीक को बढ़ावा देगा ताकि जीवाश्म ईंधन पर निर्भरता कम हो सके।

ii.योजना का पहला चरण वित्तीय वर्ष 2016-2017 में 2 साल तक पूरा करने के उद्देश्य से शुरू किया गया था। लेकिन इसे 2019 तक बढ़ा दिया गया।

iii.इस योजना में चार फोकस क्षेत्र हैं अर्थात प्रौद्योगिकी विकास, मांग निर्माण, पायलट परियोजना और चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर।

हाल के संबंधित समाचार:

‘ग्लोबल EV आउटलुक 2021’- अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी (IEA) की हाल ही में जारी वार्षिक रिपोर्ट में कहा गया है कि 2030 तक इलेक्ट्रिक वाहनों (EV) की बिक्री भारत में नए वाहनों की बिक्री के 30% से अधिक होगी।

एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (EESL) के बारे में:

EESL NTPC लिमिटेड, रूरल इलेक्ट्रिफिकेशन कार्पोरेशन लिमिटेड, पावर फाइनेंस कार्पोरेशन लिमिटेड और पावर ग्रिड कार्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड का संयुक्त उद्यम है।
स्थापना – 2009 (100% सरकार, विद्युत मंत्रालय के स्वामित्व में)
मुख्यालय – नई दिल्ली
अध्यक्ष – राजीव शर्मा

मिनिस्ट्री ऑफ़ हेवी इंडस्ट्रीज एंड पब्लिक इंटरप्राइजेज (MoHI & PE) के बारे में:

केंद्रीय मंत्री – प्रकाश जावड़ेकर
राज्य मंत्री – अर्जुन राम मेघवाल





error: Alert: Content is protected !!