Current Affairs APP

DRDO ने गोवा में पायथन-5 एयर-टू-एयर मिसाइल का सफल प्रथम परिक्षण आयोजित किया

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने गोवा में 5वीं पीढ़ी के पायथन-5 शॉर्ट रेंज एयरटूएयर मिसाइल (AAM) का सफलतापूर्वक परीक्षण किया। यह मिसाइल भारत की स्वदेशी LCA (लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट) तेजस की हवा से हवा मारक क्षमता को बढ़ाएगी।

  • पायथन-5 मिसाइल, राफेल एडवांस्ड डिफेंस सिस्टम, इजरायल द्वारा निर्मित एक इन्फ्रा-रेड गाइडेड मिसाइल है और इसकी रेंज 20 किमी है।
  • परीक्षण ने डर्बी बियॉन्ड विजुअल रेंज (BVR) मीडियम रेंज AAM मिसाइल की बढ़ी हुई क्षमता को भी सत्यापित किया, जिसकी रेंज 50 किमी है।
  • दोनों मिसाइलों को एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी (ADA) के तेजस विमान से दागा गया था।

प्रमुख बिंदु

  • पाइथन-5 इजरायल मूल की दूसरी एयरटूएयर मिसाइल है, जिसे तेजस फाइटर पर एकीकृत किया जाएगा, जो डर्बी मीडियम-रेंज एयर-टू-एयर मिसाइल है।
  • डर्बी एक राडार-गाइड हथियार है और राफेल एडवांस्ड डिफेंस सिस्टम, इज़राइल द्वारा निर्मित है।
  • सफल परीक्षणों के बाद, बंशी (लक्षित ड्रोन) पर पायथन-5 मिसाइल का लाइव लॉन्च किया गया।
  • दोनों मिसाइलों ने अपने लक्ष्य पर 100% आघात हासिल की।
  • परीक्षणों से पहले, विमान प्रणालियों के साथ मिसाइल के एकीकरण का आकलन करने के लिए बेंगलुरु में मिसाइल कैरिज उड़ान परीक्षण किए गए थे।

हाल के संबंधित समाचार:

i.25-26 जनवरी, 2021 को DRDO ने ओडिशा के तट से दूर बालासोर के एकीकृत परीक्षण रेंज से आकाश-NG (न्यू जेनरेशन) सरफेस टू एयर मिसाइल (SAM) का पहला प्रक्षेपण सफलतापूर्वक किया।

राफेल एडवांस्ड डिफेंस सिस्टम के बारे में:

CEO – योव हर-इवन
मुख्यालय – हाइफा, इज़राइल

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) के बारे में:

मुख्यालयनई दिल्ली
अध्यक्ष- डॉ G. सतीश रेड्डी





error: Alert: Content is protected !!