वित्त वर्ष 21 में ऋण, जमा वृद्धि के मामले में बैंक ऑफ महाराष्ट्र PSU बैंकों में सबसे ऊपर

बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BoM) द्वारा प्रकाशित आंकड़ों के अनुसार, यह वित्त वर्ष 21 में ऋण और जमा वृद्धि के मामले में सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम (PSU) बैंकों में शीर्ष प्रदर्शनकर्ता के रूप में उभरा।

  • BoM ने वित्त वर्ष 21 में सकल अग्रिम में 13.45 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 1.07 लाख करोड़ रुपये दर्ज किए।
  • BoM के बाद, पंजाब एंड सिंध बैंक ने वित्त वर्ष 21 में 67,811 करोड़ रुपये के कुल ऋण के साथ अग्रिमों में 8.39 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की।

FY21 में BoM के वित्तीय परिणामों पर मुख्य बिंदु:

i.जमा जुटाना: जमा जुटाने के मामले में BoM देश के सबसे बड़े ऋणदाता भारतीय स्टेट बैंक (SBI) से लगभग 16 प्रतिशत की वृद्धि के साथ आगे था, बदले में, SBI ने 13.56 प्रतिशत दर्ज किया।

ii.CASA: FY21 में, BoM का करंट अकाउंट सेविंग्स अकाउंट(CASA) 24.47 प्रतिशत बढ़ा, जो PSU बैंकों में सबसे अधिक है। इस प्रकार CASA बैंक की कुल देनदारी का 54 प्रतिशत या 93,945 करोड़ था।

iii.वित्त वर्ष 21 में इसका स्टैंडअलोन शुद्ध लाभ 42 प्रतिशत बढ़कर 550.25 करोड़ रुपये हो गया, जबकि वित्त वर्ष 20 में इसका लाभ 388.58 करोड़ रुपये था।

iv.संपत्ति गुणवत्ता: मार्च 2021 के अंत में, बैंक की सकल नॉन-परफार्मिंग एसेट्स (NPA) मार्च 2020 में 12.81 प्रतिशत के मुकाबले घटकर 7.23 प्रतिशत रह गई।शुद्ध NPA भी 4.77 प्रतिशत (मार्च 2020) के मुकाबले घटकर 2.48 प्रतिशत (मार्च 2021) रह गया।

v.FY21 में बैंक का ग्रॉस बैड लोन 7,779.68 करोड़ रुपये रहा, जो FY20 के 12,152.15 करोड़ रुपये से कम है।

vi.BoM का कुल कारोबार 14.98 प्रतिशत बढ़कर 2.81 लाख करोड़ रुपये हो गया है।

हाल के संबंधित समाचार:

18 फरवरी 2021 को, वायना नेटवर्क, भारत की सबसे बड़ी आपूर्ति श्रृंखला वित्तपोषण (SCF) मंच के साथ साझेदारी में बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BoM) ने MSME के लिए अपनी चैनल वित्तपोषण समाधान, महाबैंक चैनल फाइनेंसिंग योजना शुरू की।

बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BOM) के बारे में:

स्थापना – 1935 में निगमित, 1936 में संचालन शुरू किया गया
मुख्यालय – पुणे, महाराष्ट्र
MD & CEO – A.S राजीव
टैगलाइन – वन फॅमिली वन बैंक





error: Alert: Content is protected !!